भारतीय रेलवे ट्रेन यात्रियों को टिकट ही नहीं बल्कि उसके साथ कई तरह की सुविधाएं भी देता है। हालांकि इनके बारे में काफी लोगों को जानकारी नहीं होती। रेल टिकट के साथ इंश्‍योरेंस कवर, वेटिंग रूम समेत कई सुविधाएं मिलती हैं। इंडियन रेलवे की सहयोगी कंपनी आईआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के जरिये टिकट बुक कराने पर अगर आपने इंश्योरेंस के विकल्‍प पर टिक किया है तो ट्रेन दुर्घटना में मृत्यु होने या अस्थायी तौर पर विकलांग होने पर 10 लाख रुपये का मुआवजा मिलता है। वहीं, स्थायी आंशिक विकलांगता की स्थिति में 7.5 लाख का इंश्योरेंस कवर मिलता है।

रेल टिकट में Hospitalization & Treatment Expenses के लिए दो लाख रुपये तक मिलते हैं। इसके अलावा चोरी, डकैती होने पर भी इंश्योरेंस कवर मिलता है। बता दें कि यह इंश्योरेंस लेने के लिए यात्री को सिर्फ 49 पैसे ही खर्च करने पड़ते हैं। वहीं, ट्रेन यात्रा के दौरान अगर किसी की तबीयत खराब हो जाती है और दवा की जरूरत पड़ती है तो ट्रेन टीटीई से फर्स्ट ऐड बॉक्स की मांग कर सकते हैं। ट्रेन में सफर करने वाले हर यात्री को रेलवे की ओर से ये सुविधा दी जाती है। हालांकि, जानकारी नहीं होने के कारण बहुत कम ही लोग जरूरत पड़ने पर इस सुविधा का फायदा ले पाते हैं।

यात्रियों को अब स्टेशनों पर रेलवे की ओर से वाईफाई की मुफ्त सुविधा दी जा रही है। हालांकि, अभी यह सुविधा सभी रेलवे स्टेशनों पर उपलब्‍ध नहीं कराई गई है। वहीं, ट्रेन लेट होने पर टिकट के क्लास के मुताबिक वेटिंग रूप का इस्‍तेमाल आराम करने के लिए सकते हैं। रेलवे हर यात्री को यह सुविधा देता है। इसके अलावा रेल यात्रियों को क्लॉक रूम की सुविधा भी दी जाती है। अगर आपके पास ट्रेन का वैध टिकट है तो आप क्लॉक रूम का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें आप अपना सामान जमा करा सकते हैं। कई बार सफर के दौरान टाइम गैप होने पर लोग अपने सामान को यहां रखकर आराम से घूम पाते हैं।