रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है जिसके तहत अब जल्द ही राजधानी और शताब्दी समेत कई ट्रेनें चलेंगी। जनता की सुविधाओं का ख्याल करते हुए रेलवे ने 392 फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। जानकारी के मुताबिक, 196 जोड़ी ट्रेनें यानी कि 392 ट्रेनों को फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन के तौर पर चलाया जाएगा। ट्रेनों की लिस्ट संबंधित जोन को भेज दी गई है. इसी बीच अब खबर है कि जल्द ही ट्रैक पर शताब्दी, तेजस, हमसफर और राजधानी की सभी ट्रेनें लौटेंगी।
रेलवे सूत्रों के मुताबिक, नवंबर तक सभी राजधानी, शताब्दी, तेजस और हमसफर एक्सप्रेस ट्रेने अपने मूल रूट पर रफ्तार भरेंगी। बताया जा रहा है कि इन सभी ट्रेनों को बतौर 'स्पेशल ट्रेन' ही चलाया जाएगा। फिलहाल रेलवे 682 स्पेशल ट्रेन और 20 क्लोन ट्रेनों का संचालन कर रही है। इनके अलावा 20 अक्टूबर से 30 नवंबर तक 416 स्पेशल ट्रेन भी चलाई जाएंगी। रेलवे द्वारा ट्रेनों की संख्या बढ़ाने का मकसद कोविड-19 के बीच यात्रियों को भीड़भाड़ से बचाना है।
फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें 20 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच चलाई जाएंगी। इसकी मिनिमम स्पीड 55 किमी/घंटे रहेगी। जानकारी के मुताबिक फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन में अधिकतर थर्ड एसी कोच लगे होंगे, जिनका किराया मौजूदा स्पेशल ट्रेन के किराए के बराबर ही होगा।