एक भारतीय युवक ने AC वाली PPE किट बनाई है जिसें पहनने के बाद डॉक्टर कूल रहेंगे। अभी जो पीपीई किट हैं उन्हें पहनना डॉक्टरों के लिए आसान नहीं होता है। इस किट को पहनने के बाद बहुत गर्मी लगती है। अब इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए मध्य प्रदेश के जबलपुर के रहने वाले एक युवक ने एयरकंडीशन वाली पीपीई किट बनाई है।
इस एसी वाली किट को पहनने के बाद कोरोना वॉरियर्स बड़े आराम से अपना काम कर सकेंगे। यह 5-6 घंटे तक ठंडी रहेगी। इसे पेटेंट के लिए भेज दिया गया है। सरकार ने भी इस पीपीई किट में दिलचस्पी दिखाई है।
एयरकंडीशन वाली पीपीई किट को बनाने वाले छात्र मोहम्मद मंसूरी ने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से बी-टेक कर रहे हैं। मंसूरी ने अपने इस आविष्कार को वेंटिलेटेज पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट का नाम दिया है। इसे पीपीई किट से जोड़कर कमर में बांधा जा सकता है। इसका वजन काफी हल्का है। इसलिए इस्तेमाल करने में ज्यादा दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा।
जिला प्रशासन ने इस आविष्कार की सराहना करते हुए चिकित्सा विभाग के जरिये इस संबंध में एक प्रस्ताव इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च को भेजा है। पीएमओ को भी इसका प्रेजेंटेशन भेजा जाएगा।
इस एसी वाली पीपीई किट का वजन 800 ग्राम है और इसे बनाने में लागत 3500 रुपए आई है। इसमें एरोडायनेमिक्स तकनीक इस्तेमाल की गई है। यह तकनीक रॉकेट के इंजन को ठंडा करने में इस्तेमाल होती है। एक पाइप के जरिए ठंडी हवा पीपीआई किट के अंदर जाएगी। इस उपकरण को चार्ज करने के बाद करीब 6 घंटे तक चलाया जा सकता है।