भारत के पूर्व तीनों सेना प्रमुखों ने कहा है कि हम चीन के लिए पूरी तरह तैयार हैं। इस समय भारत और चीन के बीच लद्दाख बॉर्डर पर तनाव की स्थिति है। हालांकि इस मामले को सुलझाने की कोशिश जारी है। इसी अबकी बार चीन से आर-पार करने के लिए भारत के पूर्व आर्मी चीफ वीपी मलिक, पूर्व नौसेना प्रमुख सुनील लांबा और पूर्व एयरचीफ एस. कृष्णा स्वामी ने ने कहा है कि भारत हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।
उन्होंने यह भी कहा कि चीन से बॉर्डर विवाद हल करना जरूरी है, लेकिन भारत आज की स्थिति में मजबूत है और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार भी है। पूर्व थल सेना प्रमुख जनरल वीपी मलिक ने कहा है कि जब तक चीन के साथ बॉर्डर विवाद हल नहीं होता है, तबतक इस तरह के हालात बनते रहेंगे। उन्होंने कहा कि LAC पर दोनों देशों ने 1990 के आसपास माना था कि ये विवादित क्षेत्र है, तब से अबतक कुछ बदलाव और भी हुआ है।
उन्होंने कहर कि हम फिंगर 8 तक जाते हैं और वो फिंगर 4 तक आते हैं, ऐसे में दोनों देशों को आपस में बातचीत करनी होगी तब मसले का हल निकलेगा। गलवान नदी में इस बार चीन ने LAC को पार किया है, यहां से चीन को हटना ही होगा। पेंगोंग के इलाके में दोनों देशों को साथ में हल निकालना होगा।
मौजूदा विवाद पर वीपी मलिक बोले कि अभी जहां भारत और चीन के बीच विवाद है, ये बड़ा एरिया है। यहां आप कितने भी लोग तैनात कर लें, लेकिन वहां पर बड़े-बड़े गैप होंगे। लद्दाख के पास का हिस्सा काफी मुश्किल है, किसी भी तरह की स्थिति के लिए। अगर चीन ने उस जगह ज्यादा तैनाती की है, तो हमारे में भी उतनी ही क्षमता है। हमारी फौज को हुक्म दें, तो यही कर सकते हैं।