भारतीय-अमेरिकी दम्पत्ति ने बिहार ) एवं झारखंड  में स्वास्थ्यसेवा कार्यों के लिए एक करोड़ रुपए दान किए हैं।  ‘बिहार झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका’ (बीजेएएनए) ने सोमवार को यह घोषणा की। 

‘रमेश और कल्पना भाटिया फैमिली फाउंडेशन’ द्वारा बीजेएएनए को दिए इन 1,50,000 डॉलर का इस्तेमाल प्रान-बीजेएएनए पहल के जरिए दोनों राज्यों के ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्यसेवा प्रयासों के लिए किया जाएगा। 

‘प्रवासी एलुमनी नि:शुल्क’ (प्रान) भारतीय-अमेरिकी चिकित्सकों की पहल है, जो बिहार एवं झारखंड में वंचित एवं कमजोर तबके के लोगों को स्वास्थ्यसेवा मुहैया कराने के लिए काम कर रहे हैं।  इन चिकित्सकों ने रांची में प्रान क्लीनिक खोला है, जहां जरूरतमंदों को नि:शुल्क स्वास्थ्यसेवा दी जाती है। 

बीजेएएनए के अध्यक्ष अविनाश गुप्ता ने उदारता से दान करने के लिए रमेश और कल्पना भाटिया को धन्यवाद दिया।  पूर्व एफआईए अध्यक्ष आलोक कुमार ने भी कहा कि इस प्रकार के दान से बीजेएएनए को स्वास्थ्यसेवा के क्षेत्र में काम करने में मदद मिलेगी। भाटिया ने पटना स्थित एनआईटी से पढ़ाई की है और वह टेक्सास में सफलतापूर्वक अपना कारोबार चलाते हैं।