CEBR ने बताया है कि भारत जल्द ही जापान को अर्थव्यवस्था के मामले में पीछे छोड़कर तीसरे नंबर आ जाएगा। बताया गया है कि भारत 2025 तक ब्रिटेन को पछाड़ कर फिर दुनिया की पांचवीं बड़ी इकोनॉमी बन जाएगा। इसके बाद साल 2030 तक भारत दुनिया में तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

फिलहाल कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत को अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर तगड़ा झटका लगा है। इस वजह से 2020 में भारतीय अर्थव्यवस्था एक पायदान नीचे खिसक कर छठे स्थान पर आ गई है। भारत 2019 में ब्रिटेन से ऊपर निकल कर 5वें स्थान पर पहुंच गया था।
ब्रिटेन के प्रमुख आर्थिक अनुसंधान संस्थान सेंटर फॉर इकोनॉमिक एंड बिजनेस रिसर्च (CEBR) की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत महामारी के असर से रास्ते में थोड़ा लड़खड़ा गया है। इसी का परिणाम है कि भारत 2019 में ब्रिटेन से आगे निकलने के बाद इस साल ब्रिटेन से पीछे हो गया है।

रिपोर्ट्स के अनुसार ब्रिटेन 2024 तक आगे बना रहेगा, लेकिन उसके बाद भारत आगे निकल जाएगा। रुपये के कमजोर होने से 2020 में ब्रिटेन फिल से भारत से ऊपर आ गया। अनुमान है कि 2021 में भारत की वृद्धि 9 फीसदी और 2022 में 7 फीसदी रहेगी।

सीईबीआर के अनुसार यह स्वाभाविक है कि भारत जैसे-जैसे आर्थिक रूप से अधिक विकसित होगा, देश की विकास दर धीमी पड़ेगी और 2035 तक यह 5.8 फीसदी पर आ जाएगी।

आर्थिक विकास दर की इस अनुमानित दिशा के अनुसार अर्थव्यवस्था के आकार में भारत 2025 में ब्रिटेन से, 2027 में जर्मनी से और 2030 में जापान से आगे निकल जाएगा। अनुमान है कि चीन 2028 में अमेरिका से ऊपर निकल कर विश्व की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हो जाएगा।