अरब देशों को फूड सामान निर्यात के मामले में भारत साल 2020 में पहले पायदान पर पहुंच गया है। पिछले 15 साल में पहली बार ऐसा हुआ है, जब भारत इस मामले में पहले स्थान पर आया है।

भारत ने इस मामले में ब्राजील को पीछे छोड़ दिया है। अरब-ब्राजील चैम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार कोविड महामारी की वजह से साल 2020 में अरब और ब्राजील के व्यापार में कमी आई है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, अरब देश ब्राजील के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारोबारी साझेदार हैं। लेकिन कोरोना महामारी के दौरान ग्लोबल लॉजिस्ट‍िक्स में अवरोध की वजह से ब्राजील ने इन देशों से व्यापार से दूरी बनाई और इसका उसे भारी नुकसान उठाना पड़ा है।

पिछले साल यानी साल 2020 में 22 अरब देशों के कुल एग्री बिजनेस उत्पादों के निर्यात में ब्राजील का हिस्सा महज 8.15 फीसदी रह गया, जबकि भारत का हिस्सा बढ़कर 8.25 फीसदी हो गया है।

रिपोर्ट के अनुसार पहले ब्राजील के जहाज जहां सऊदी अरब में एक महीने में पहुंच जाते थे, वहीं अब इनके पहुंचने में दो महीने लग जाते हैं, जबकि भारत इसके काफी करीब होने की वजह से महज एक हफ्ते में वहां फल, सब्जियां, चीनी, अनाज और मीट पहुंचा देता है।

ब्राजील से निर्यात कम होने की वजह से सऊदी अरब ने अपने देश में ही उत्पादन पर जोर दिया और भारत जैसे दूसरे विकल्पों से आयात को बढ़ावा दिया।