केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने गुरुवार को कहा कि भारत अब किसी भी तरह की आतंकी गतिविधियों के खिलाफ मुंहतोड़ जवाब दे रहा है और कश्मीर घाटी (terrorist attack in jammu) में पिछले दिनों निर्दोष लोगों की हत्या करने वाले आतंकवादियों को सुरक्षा बलों ने ढेर कर दिया है। 

गोवा में राष्ट्रीय फॉरेन्सिक विज्ञान विश्वविद्यालय (एनएफएसयू) (NAFSU) की आधारशिला रखने के बाद शाह ने कहा कि भारत अब आतंकवादियों की हर गतिविधियों के खिलाफ मुंहतोड़ जवाब दे रहा है। गृह मंत्री amit shah ने साल 2016 में भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक (surgical strike) का भी जिक्र किया, जब भारतीय सेना (indian army) के जवानों ने सीमा पार से हुए श्रृंखलाबद्ध आतंकी हमलों पर जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तानी (pakistan) क्षेत्र में घुसकर हमलावरों को ढेर किया था। सर्जिकल स्ट्राइक से दुनियाभर को संदेश मिला कि भारतीय सीमाओं के साथ कोई भी छेड़खानी नहीं कर सकता। 

केंद्र में पिछली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार पर तंज कसते हुए गृह मंत्री ने कहा कि पहले जब आतंकी सीमाओं का उल्लंघन कर देश में अशांति फैलाते थे, तब दिल्ली में सत्तारूढ़ सरकार कुछ नहीं किया करती थी। हालांकि, भाजपा के सत्ता में आने के बाद जम्मू और कश्मीर के ऊरी में आतंकियों के हमला करने के बाद भारतीय सेना ने 2016 में सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकवादियों को कड़ा सबक सिखाया था। पाकिस्तान का नाम लिए बिना शाह ने कहा कि पहले सिर्फ वार्ताएं हुआ करती थीं, लेकिन अब भारत उसी लहजे में जवाब देने लगा है। 

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री मोदी और पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में की गई सर्जिकल स्ट्राइक एक महत्वपूर्ण कदम था। हमने संदेश दे दिया था कि भारत की सीमाओं पर कोई अशांति नहीं फैला सकता है। पहले सिर्फ बातचीत हुआ करती थी, लेकिन अब जवाब दिया जाता है। शाह का यह बयान ऐसे समय में आया है जब कश्मीर घाटी में आतंकी गतिविधियों में बढ़ोतरी के बाद कई नागरिकों की हत्याओं ने भय पैदा कर दिया था लेकिन सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के खिलाफ जोरदार अभियान चलाते हुए इन आतंकवादियों को ढेर कर दिया था और इनमें एक जैश का कमांडर भी था।