भारत ने 5000 KM तक मार करने वाली मिसाइल अग्नि-5 (Agni-V missile) का सफल परीक्षण किया है। इसके बाद अब चीन और पाकिस्तान की बोलती बंद होने वाली है। इस मिसाइल के सफल परीक्षण के साथ ही भारतीय सेना की ताकत और ज्यादा बढ़ गई है। यह सतह से सतह पर वार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 है। इस खतरनाक मिसाइल को एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से लॉन्च किया गया है।

इस मिसाइल के लॉन्च (India Missile launch) के साथ ही भारत सरकार ने साफ कर दिया है कि उनकी नीति वहीं रहने वाली है कि किसी भी हथियार का पहले इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। लेकिन भारत अपनी ताकत बढ़ाने पर पूरा जोर देगा। अग्नि 5 की एंट्री से चीन से लेकर पाकिस्तान तक सभी बेचैन हैं।

अग्नि 5 मिसाइल की मारक क्षमता 5000 किलोमीटर है। इस मिसाइल की ताकत इसलिए भी ज्यादा मानी जा रही है क्योंकि इसके इंजन पर काफी काम किया गया है। इसकी क्षमता और सटीकता दूसरी मिसाइलों की तुलना में ज्यादा हैै।

अग्नि-5 अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (Agni-V ICBM) का वजन 50 हजार किलोग्राम है। यह 17.5 मीटर लंबी है। इसका व्यास 2 मीटर यानी 6.7 फीट है। इसके ऊपर 1500 किलोग्राम वजन का परमाणु हथियार लगाया जा सकता है। इस मिसाइल में तीन स्टेज के रॉकेट बूस्टर हैं जो सॉलिड फ्यूल से उड़ते हैं। इसकी ध्वनि की गति से 24 गुना ज्यादा है। इसका मतलब यह एक सेकेंड में 8.16 किलोमीटर की दूरी तय करती है।

अग्नि 5 मिसाइल की MIRV तकनीक भी काफी खास है जिस वजह से इसके वॉरहेड पर एक की जगह कई हथियार लगाए जा सकते हैं। ऐसे में मिसाइल एक बार में कई टारगेट को ध्वस्त कर सकती है। दावा है कि इस मिसाइल के जरिए पूरे एशिया, यूरोप, अफ्रीका के कुछ हिस्सों तक हमला किया जा सकता है।