केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारियों के लिए महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने का फैसला किया है लेकिन इसके साथ उनको तगड़ा झटका भी दिया है। सरकार ने अब महंगाई भत्ते की दर को 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया गया है। यह बढ़ोतरी डेढ़ साल बाद की गयी है और इससे केंद्र सरकार के करीब 1.14 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनधारियों को फायदा होगा। डीए और डीआर में बढ़ोतरी से सरकारी खजाने पर 34,401 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

कोविड महामारी के मद्देनजर सरकार ने डीए और डीआर की तीन अतिरिक्त किस्तों को डेढ़ साल तक रोक लिया था। बहुत से लोगों के मन में यह सवाल है कि क्या इन किस्तो की बकाया राशि यानी एरियर्स भी मिलेंगे। सरकार ने साफ कर दिया कि एरियर्स नहीं मिलेंगे। सरकार ने कहा है कि 1 जनवरी 2020 से लेकर 30 जून 2021 तक की अवधि के दौरान जो डीए रोका गया था, उसका एरियर्स नहीं मिलेगा। इस अवधि के दौरान जो डीए का प्रतिशत बनता उसे जोड़कर 1 जुलाई से इसे बहाल कर दिया गया है। भारत सरकार के मुख्य प्रवक्ता जयदीप भटनागर ने कहा, कैबिनेट ने डीए और डीआर की तीन किस्तों को 1 जुलाई 2021 से पुननर्बहाल किया है। इसमें 11 प्रतिशत की वृद्धि होगी। यानी पहले बेसिक पे पर 17 प्रतिशत और बढ़ी हुई दर 11 प्रतिशत। कुल मिलाकर अब बेसिक पे का 28 प्रतिशत डीए दिया जाएगा।

ऐसे समझें
1. सांतवें वेतन आयोग के मुताबिक डीए को साल में दो बार बढ़ाया जाता है। कोविड महामारी के मद्देनजर सरकार ने डीए और डीआर की तीन किस्तों को रोक लिया था। ये किस्तें थीं- एक जनवरी 2020 को 4 प्रतिशत, एक जुलाई, 2020 को 3 प्रतिशत और एक जनवरी 2021 4 प्रतिशत। कुल मिलाकर 11 प्रतिशत डीए बनता जिसे रोका गया था। अब एक जुलाई से इसे बहाल कर दिया गया।

2. डीए यानी Dearness Allowance केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों के वेतन का घटक है। मंहगाई को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार साल में दो बार जनवरी और जुलाई में महंगाई भत्ता बढ़ाने का ऐलान करती है। प्रत्येक कर्मचारियों के डीए में विभिन्नता होती है। मसलन शहरी, अर्द्ध शहरी और ग्रामीण इलाकों में महंगाई भत्ते की रकम अलग-अलग होती है।

3. 30 जून 2021 तक केंद्रीय कर्मचारियों को 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलता था। अब 1 जुलाई से कुल डीए 28 प्रतिशत मिलेगा। वर्तमान में केंद्रीय कर्मचारियों को अगर 18000 रुपये मिलता है तो अब उसकी सैलरी में 11 प्रतिशत की वृद्धि हो जाएगी यानी 5040 रुपये की वृद्धि।
4. सरकार 1 जनवरी 2020 से 30 जून 2021 के बीच की अवधि पर डीए एरियर्स नहीं देगी। बढ़ा हुआ डीए सिर्फ 1 जुलाई 2021 से ही दिया जाएगा.

5. डीए और डीए में पिछले तीन छमाही में जो वृद्धि रुकी हुई थी, उसे जोड़कर 11 प्रतिशत हुआ। यही 11 प्रतिशत डीए और डीआर 1 जुलाई से लागू होगा। 1 जनवरी 2020 से लेकर 30 जून 2021 तक का डीए और डीआर पहले की तरह 17 प्रतिशत ही बरकरार रहेगा।

केंद्रीय कर्मचारियों की महीने की तनख्वाह कितनी बढ़ेगी
अभी केंद्रीय कर्मचारियों को 17 फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा है। अब ये भत्ता बढ़कर 28 फीसदी हो गया है। उदाहरण के लिए, अगर किसी कर्मचारी की बेसिक सैलेरी 20 हजार रुपये है तो अभी 17 फीसदी के हिसाब से 3400 रुपये प्रति महीना डीए मिल रहा है। अब ये डीए बढ़कर 5600 रुपये हो जाएगा। यानी कि महीने की सैलेरी में 2200 रुपये का इजाफा होगा। इसी तरह अगर बेसिक सैलेरी 50 हजार रुपये महीना है तो डीए 8500 रुपये से बढ़कर 14,000 रुपये हो जाएगा। यानी कि महीने में 5500 रुपये ज्यादा मिलेंगे। यह गणना 1 जुलाई से लागू होगी।