Budget 2022 में इनकम टैक्स देने वालों को बड़ी सौगात दी गई है जिसके तहत अब वो ITR में गड़बड़ी होने पर 2 साल तक अपडेट करके भर सकते हैं। आपको बता दें कि यूनियन बजट 2022 देशके वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आयकर में कोई राहत तो नहीं दी है लेकिन यह छूट जरूर दी है। भारत सरकार ने दाखिल आईटीआर में भूल-चूक सुधारने के लिए मोहलत देते हुए 2 साल तक ITR अपडेट की सहूलियत दी है।

हालांकि, अभी इनकम टैक्स रिटर्न का स्लैब वैसा ही है जैसा पहले था। इसमें किसी तरह की सीधी र‍ियायत नहीं दी गई है। स्टैंडर्ड डिडक्शन भी बढ़ाने का ऐलान नहीं किया गया है। 80C में भी कोई छूट नहीं दी है। इसके अलावा, वर्चुअल करेंसी पर सरकार ने 30 प्रतिशत टैक्स लगाने का ऐलान किया है।

आपको बता दें कि वित्त मंत्री ने एनपीएस में सरकारी कर्मचारियों के कंट्रीब्यूशन पर टैक्स डिडक्शन को 10 फीसदी से बढ़ाकर 14 फीसदी कर दिया है। वहीं, डिजिटल एसेट्स के ट्रांसफर में पेमेंट्स पर 1 फीसदी की दर से टैक्स लगाया जाएगा। वित्तमंत्री ने यह भी ऐलान किया कि लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस पर 15 फीसदी सरचार्ज लागू होगा।