भारत और चीन के बीच अरुणाचल के तवांग जिले में बुमला के नजदीक बॉर्डर पर्सनल मीटिंग (बीपीएम) हुई। पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की ओर से आयोजित इस बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा  की गई।


तेजपुर में रक्षा मंत्रालय के जन संपर्क अधिकारी ने बताया कि बैठक में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ब्रिगेडियर एमपी सिंह और चीनी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वरिष्ठ कर्नल लि जांग शून ने किया। निर्धारित सैन्य बीएमपी कार्यक्रम के अनुसार इस दौरान दोनों देशों के राष्ट्रीय ध्वज फहराये गए और राष्ट्रगान हुआ।

बुमला अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले से 42 किलोमीटर उत्तर में 15,134 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। बुमला भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच बीपीएम के लिए नामित पांच स्थलों में से एक है। पिछले 25 वर्षों के दौरान बीपीएम व्यवस्था क्षेत्रीय मुद्दों का समाधान करने, क्षेत्र में शांति और विश्वास बढ़ाने के एक महत्वपूर्ण मंच के रूप में विकसित हुई है।

इस दौरान दोनों प्रतिनिधिमंडलों के बीच मुक्त, सौहार्दपूर्ण वातावरण में बातचीत हुई। दोनों पक्षों ने सौहार्दपूर्ण संबंधों को बढ़ाने के लिए नयी प्रतिबद्धता, वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर शांति और दोस्ती की भावना बनाए रखने का भी संकल्प व्यक्त किया।