लद्दाख बॉर्डर पर जारी तनातनी के बीच भारत और चीन के कोर कमांडर की 8वीं बैठक अगले सप्‍ताह होने जा रही है। इसके लिए अब तक जो तारीख सामने निकलकर आई है, वह 19 अक्टूबर है। यह जानकारी हमारी सहयोगी वेबसाइट WION को सूत्रों ने दी है। पिछले ही हफ्ते भारत-चीन के कोर कमांडरों की 7वीं बैठक हुई थी। यह बैठक वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चुशूल में हुई थी और करीब 12 घंटे तक चली थी।
इस बैठक के बाद एक संयुक्त बयान जारी किया गया, जिसमें 'जितनी जल्दी हो सके इस मसले के पारस्परिक रूप से स्वीकार्य समाधान निकालने' की बात कही गई थी। पिछले डेढ़ महीने के दौरान दोनों देशों द्वारा जारी किए गए तीसरे संयुक्त बयान में सोमवार को होने वाली बातचीत को 'सकारात्मक, रचनात्मक और एक-दूसरे के पदों की समझ को बढ़ाने वाला' बताया गया है।
भारत और चीन के 2 संयुक्‍त बयान सितंबर के महीने में आए हैं। पहला, मॉस्‍को में विदेश मंत्रियों की वार्ता के बाद और दूसरा, कोर कमांडर्स की 6 वीं बातचीत के बाद आया। 7वीं बैठक में चीन ने जो प्रस्‍ताव दिया था, उस पर चाइना स्‍टडी ग्रुप में चर्चा हुई। इस ग्रुप में एनएसए अजीत डोभाल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, सीडीएस बिपिन रावत समेत कई शीर्ष भारतीय अधिकारी शामिल हैं। उन्‍होंने इस पर 90 मिनट तक बात की।

गौरतलब है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर दोनों देशों के बीच कई महीनों से संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं। चीन लगातार पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर बना हुआ है, जबकि इस मामले में भारत ने बार-बार अपनी असहमति जताई है। नई दिल्ली ने चीनी सैनिकों को एलएसी पर अप्रैल की स्थिति में जाने के लिए कहा है।