भारत ने यहां गाबा इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए चौथे और एवं आखिरी टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया द्वारा दिए गए 328 रनों के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करते हुए टेस्ट क्रिकेट में अपना तीसरा सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल कर लिया है। भारत ने यहां गाबा इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए चौथे और एवं आखिरी टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हरा दिया। भारत को जीतने के लिए 328 रनों का मुश्किल लक्ष्य मिला था जो उसने मैच के आखिरी दिन मंगलवार को सात विकेट खोकर आखिरी सत्र में हासिल कर लिया।

भारत का टेस्ट क्रिकेट में यह तीसरा सबसे बड़ा लक्ष्य है, जिसे उसने हासिल किया है। वहीं, आस्ट्रेलिया में किसी भी टीम द्वारा हासिल किया गया यह तीसरा बड़ा स्कोर है। इसी के साथ भारत ने चार मैचों की टेस्ट सीरीज 2-1 से अपने नाम करते हुए बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास ही रखी है। भारत ने पिछले आस्ट्रेलिया दौरे पर 2018-19 में यह ट्रॉफी आस्ट्रेलिया में ही जीती थी। टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का भारत का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के खिलाफ है। भारत ने 1975-76 में पोर्ट आफ स्पेन में खेले गए टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज द्वारा दिए गए 406 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल कर लिया था, जोकि टेस्ट क्रिकेट में उसका सबसे बड़ा हासिल किया गया लक्ष्य है।

भारत ने अपना दूसरा सबसे बड़ा लक्ष्य 2008-09 में चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ हासिल किया था, जब उसने इंग्लैंड से मिले 387 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल कर लिया था। भारत ने चौथा सबसे बड़ा लक्ष्य वेस्टइंडीज के खिलाफ नई दिल्ली में 2011-12 में हासिल किया था, जब उसने 276 रनों का टारगेट अचीव किया था। इसके अलावा भारतीय टीम 2001 में कैंडी में श्रीलंका के खिलाफ भी 264 रनों के लक्ष्य को हासिल कर चुका है। टेस्ट में आस्ट्रेलिया में आस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के नाम है, जिन्होंने 2008-09 में 414 रनों के विशाल लक्ष्य को हासिल किया था। इसके बाद इंग्लैंड का नंबर आता है, जिन्होंने 1928-29 में मेलबर्न में 332 रनों के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया था।