इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने उत्तर भारत में स्थित पान मसाला बनाने वाले ग्रुप के कई ठिकानों पर छापेमारी करने के बाद 400 करोड़ रुपये से अधिक के अवैध लेन-देन का पता लगाया है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से जुड़े सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज यानी सीबीडीटी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

सीबीडीटी के मुताबिक, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने गुरुवार को समूह के कानपुर, दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और कोलकाता में स्थित कुल 31 ठिकानों पर छापेमारी की. पान मसाला बनाने वाला यह ग्रुप रियल स्टेट का भी कारोबार करता है. छापेमारी में ग्रुप के 400 करोड़ रुपये से अधिक के अवैध लेन-देन के बारे में पता चला है. इस बयान में ग्रुप की पहचान नहीं बताई गई है.

बयान के मुताबिक, ग्रुप को पान मसाला की बेहिसाब बिक्री और रियल स्टेट कारोबार के जरिए बहुत अधिक मुनाफा हो रहा था. ग्रुप ने मुनाफे की इस कमाई को फर्जी कंपनियों के जरिए दोबारा अपने कारोबार में लगा दिया.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने छापेमारी के दौरान 52 लाख रुपये कैश और सात किलोग्राम सोना भी बरामद किया. आरोपी ग्रुप ने फर्जी कंपनियों के जरिए देश भर में अपना कारोबार फैला रखा था. इन फर्जी कंपनियों के जरिए ग्रुप ने केवल तीन साल के भीतर बैंकों से करीब 226 करोड़ रुपये का लोन लेकर रियल स्टेट के कारोबार में लगा दिया. जांच में ग्रुप की ऐसी 115 फर्जी कंपनियों और इनके 24 फर्जी खातों के बारे में भी पता चला है.