उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक रिक्शाचालक ने आयकर विभाग से उसे तीन करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान करने का नोटिस मिलने के बाद रविवार को पुलिस से संपर्क किया. यहां बाकलपुर क्षेत्र की अमर कॉलोनी के प्रताप सिंह ने राजमार्ग थाने में शिकायत दर्ज करायी है और ठगे जाने का दावा किया है. उसे आयकर विभाग से नोटिस मिला.

थाना प्रभारी अनुज कुमार ने कहा कि सिंह की शिकायत के आधार पर कोई मामला तो दर्ज नहीं किया गया है लेकिन पुलिस इस विषय पर जरूर गौर करेगी. इस बीच सिंह ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो डालकर अपनी यह कहानी बतायी है.

उसने कहा कि उसने बाकलपुर में तेज प्रताप उपाध्याय के जन सुविधा केंद्र में पैन कार्ड के लिए आवेदन दिया था क्योंकि उसके बैंक ने उससे पैनकार्ड जमा करने को कहा था. सिंह के अनुसार उसे बाकलपुर के संजय सिंह के मोबाइल नंबर से रंगीन पैनकार्ड की प्रति मिली. चूंकि वह पढ़ा-लिखा नहीं है इसलिए उसने मूल पैन और उसकी रंगीन प्रति में भेद नहीं कर पाया. उसे अपना पैनकार्ड पाने के लिए तीन महीने तक जगह जगह चक्कर काटना पड़ा. उसे 19 अक्टूबर को आयकर अधिकारियों से फोन आया और उसे नोटिस दिया गया कि उसे 3,47,54,896 रुपये का भुगतान करना है.

सिंह के अनुसार अधिकारियों ने उसे बताया कि किसी ने उसकी जगह लेकर उनके नाम पर जीएसटी नंबर प्राप्त किया और उसने 2018-19 में 43,44,36,201 रुपये का कारोबार किया. सिंह के अनुसार आयकर अधिकारियों ने उसे प्राथमिकी दर्ज कराने की सलाह दी है.