आयकर विभाग (Income Tax Department) ने जम्मू-कश्मीर और पंजाब में सूखे मेवों के कारोबार में शामिल एक समूह के ठिकानों पर छापेमारी कर 63 लाख रुपये नकद और दो करोड़ रुपये के जेवरात जब्त करने के साथ ही 200 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाबी आय का पता लगाया है। 

विभाग ने शुक्रवार को जारी बयान में बताया कि जम्मू-कश्मीर (IT raids in Jammu and Kashmir) और पंजाब (IT raid in  Punjab) में सूख मेवे से जुड़े कारोबार में संलिप्त लोगों के खिलाफ यह कार्रवाई 28 नवंबर को की गई थी। छापेमारी में तलाशी के दौरान डिजिटल साक्ष्य सहित कई आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किए गए है। जब्त दस्तावेज यह दर्शाता है कि यह कारोबारी समूह वर्षों से सूखे मेवों की खरीद को अत्यधिक बढ़ा रहा है। जब्त किए गए सबूत इस तथ्य का भी समर्थन करते हैं कि समूह के निदेशकों द्वारा ऐसी खरीद के लिए किए गए भुगतान के बाद उन्हें बेहिसाब नकद राशि वापस की गई है। 

साक्ष्य से यह भी पता चला कि समूह के पास खरीद-बिक्री के लेखा-जोखा के लिए दो अलग-अलग रजिस्टर थे। इनमें दर्ज की गई बिक्री और खरीद के बीच एक बड़ा अंतर था। इनमें से एक समूह सूखे मेवों की बेहिसाब खरीद और बिक्री में भी लिप्त है। उनके पास 40 करोड़ रुपये का अतिरिक्त स्टॉक भी पाया गया है सबूतों के विश्लेषण से पता चलता है कि समूहों में से एक बेनामी स्वामित्व वाली कंपनी भी चला रहा है।