अरुणाचल प्रदेश में स्थायी निवास प्रमाणपत्रों के नाम पर हिंसा की घटनाओं को सर्वाधिक दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजीजू ने सोमवार को कहा कि राज्य सरकार ने पीड़ितों को पूरी सहायता देने का आश्वासन दिया है।


रिजीजू ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'अरुणाचल प्रदेश में तीन दिन से जारी हिंसा में तीन लोगों की जानें गयीं हैं और मैंने राज्य सरकार से कहा है कि वह पीड़तिों को पूरा सहयोग दें। मैंने राज्यपाल से बात की है, गृह मंत्री राजनाथ ने भी मुख्यमंत्री से बात की है।'


उन्होंने कहा कि यह समस्या इसलिए आयी क्योंकि सरकार लोगों को इस बारे में सही संदेश नहीं दे सकी और अब सरकार ने तय किया है कि स्थायी निवास प्रमाणपत्र उन लोगों को नहीं मिलेगा जो राज्य में नहीं रहते हैं।


उन्होंने कहा कि शांति बनाये रखना होगा और देश हित को लेकर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए क्योंकि किसी भी तरह की हिंसा से विकास प्रभावित होता है। अब यह बताया गया है कि स्थिति नियंत्रण में है। अरुणाचल प्रदेश में संयुक्त उच्चाधिकार समिति की ऐसे छह समुदायों को स्थायी निवास प्रमाणपत्र दिये जाने की सिफारिश को लेकर शुक्रवार से तीन दिन तक हिंसा हुई जो राज्य के मूल निवासी नहीं हैं लेकिन नामसाई एवं चांगलांग जिलों में दशकों से रह रहे हैं।