कोरोना वायरस एक बार फिर से जोर मार रहा है। कोरोना के मामले देश में लगातार बढ़ते जा रहे हैं। महाराष्ट्रा सहित कई राज्यों कोरोना के केस लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। बता दें कि कोरोना के केस महाराष्ट्रा मे सबसे ज्यादा सामने आ रहे हैं। इसलिए यहां कि सरकार ने लॉकडाउन लागू कर दिया है। कोरोना का देशभर में टीकाकरण किया जा रहा है। इस कड़ी में पीएम नरेंद्र मोदी ने देश सभी मुख्यमंत्रियों से वर्चुअल मीटिंग की है। मीटिंग में वैक्सीनेशन को लेकर मोदी ने कहा कि कई राज्यों में कोरोना की वैक्सीन को बर्बाद किया जा रहा है।


पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि “कोरोना वैक्सीनेशन तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और उत्तरप्रदेश में 10 फीसदी से ज्यादा बर्बाद हुई है। दवा की बर्बादी क्यों हो रही है इसकी समीक्षा की जानी चाहिए”। “दवा की मॉनिटरिंग हो, प्रो-एक्टिव लोगों से संपर्क करें जिसका पता लगाया जा सकें कि दवा सही से लगाई जा रही है या नहीं। कोरोना के इस दुखद समय में गुड गवर्नेंस को परखना है”। मुख्यमंत्रियों से बातचीत में मोदी ने कहा कि “आज पूरी दुनिया में इस बात की चर्चा हो रही है कि कैसे भारत ने कोरोना संकट से निपटने के लिए काम किया है”।

मीटिंग में पीएम नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों से उनकी कमियां गिनाई है जिसमें मोदी ने बताया कि स्थानीय प्रशासन मास्क को लेकर सख्ती नहीं बरत रहा है। टेस्टिंग और वैक्सीनेशन कई इलाकों नहीं पहुंचाया गया है। प्रशासन की लापरवाही के कारण ही कोरोना फिर आतंक मचा रहा है। जिसके परिणामस्वरूप देश में फिर से लॉकडाउन लागू करने की नौबत आ गई है।