विश्वनाथ की घटना को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने राज्य की सोनोवाल सरकार पर तीखा हमला बोला है। उनके मुताबिक यह राज्य सरकार के मन में समाए डर और फासीवादी रवैया का ज्वलंत उदाहरण है। उसे तीन साल के बच्चे से भी अपने आप को खतरा महसूस होने लगा है। बोरा ने कहा कि पुलिस ने मुख्यमंत्री की सुरक्षा के नाम पर तीन साल के एक बच्चे के साथ जो बर्ताव किया वह अत्यंत शर्मनाक है। बता दें कि इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।


विश्वनाथ जिले के बेहाली की घटना बताती है कि राज्य की भाजपा सरकार कितने नीचे चली गई है। तीन साल के बच्चे को काले रंग की जैकेट मुख्यमंत्री का विरोध कैसे कर सकती है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मुताबिक राज्य की साहसी जनता नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ एकजुट हो विरोध प्रदर्शन करने पर आमदा है।

लोग काले झंडे दिखा मुख्यमंत्री सोनोवाल और वित्त मंत्री हिमंत विश्व शर्मा के प्रती विरोध जता रहे हैं। एेसे में सरकार और सत्ता के करीब लोगों को हर काली दिखने वाली चीज मुख्यमंत्री को विरोध नजर आने लगी है। इससे बड़ी विडंबना और क्या हो सकती है।