पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के मद्देनजर यहां के विपक्षी दलों ने अनुमान लगाया है कि वह इसी महीने ‘पूर्व प्रधानमंत्री’ बन जाएंगे। सिंध के सूचना और श्रम मंत्री सईद गनी ने इमरान खान को इस्लामाबाद में कई रैलियां करने बजाय अपनी सरकार को बचाने के लिए नेशनल असेंबली के 172 सदस्यों से समर्थन प्राप्त करने को कहा है। 

ये भी पढ़ेंः विधानसभा चुनावों में करारी हार के बाद कांग्रेस को लगा एक और बड़ा झटका, जानिए कैसे


अभी सत्ताधरी पार्टी पाकिस्तान तहरीके इंसाफ (पीटीआई) के पास बहुमत नहीं है और साथ ही इमरान की पार्टी ने आगामी आईओसी सम्मेलन का इस्तेमाल नेशनल असेंबली सत्र में देरी करने के बहाने के रूप में किया था। इस बीच, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष मरयम नवाज ने उन सभी दावों को खारिज कर दिया है, जिनमें बताया जा रहा है कि अगर अविश्वास मत सफल होता है, तो वही अगली प्रधानमंत्री होंगी और शहबाज शरीफ पार्टी के उम्मीदवार होंगे। 

ये भी पढ़ेंः बेहद शानदार है US आर्मी की ये ट्रिक, सिर्फ 2 मिनट में आ जाती है नींद


मरयम ने कहा, इमरान खान! तुम्हारा खेल खत्म हुआ। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान तहारीक-ए इंसाफ आधिकारिक रूप से टूट चुका है। सुश्री मरयम ने बताया कि विपक्षियों की एक संयुक्त बैठक होगी और इसमें तय किया जाएगा कि प्रधानमंत्री पद के लिए अगले उम्मीदवार के लिए किसकी नियुक्ति होगी। मरियम ने कहा, ईश्वर जानता है कि अगले प्रधानमंत्री के रूप में किसकी नियुक्ति होगी, लेकिन बात अभी पीएमएल-एन की हो, तो शहबाज शरीफ दावेदार हैं।