पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टीवी डिबेट जरिए बहस की चुनौती दी है। इमरान खान ने कहा कि टीवी डिबेट में बहस के जरिए दोनों देश एक-दूसरे के बीच के विवाद सुलझा सकते हैं। बता दें कि भारत ने पांच अगस्त 2019 को कश्मीर से विशेष दर्जा छीनते हुए अनुच्छेद 370 को रद्द कर दिया था। इसके बाद से ही दोनों देशों के राजनयिक संबंध निचले स्तर पर हैं। इससे पहले भी दोनों देश कश्मीर को लेकर तीन जंग लड़ चुके हैं। 

इमरान खान ने रूसी मीडिया समूह रशियन टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा कि मुझे नरेंद्र मोदी के साथ टीवी पर डिबेट में हिस्सा लेना अच्छा लगेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि यह भारतीय उपमहाद्वीप के अरबों लोगों के लिए फायदेमंद होगा, क्योंकि इससे दोनों देश अपने बीच के मसलों को चर्चा से खत्म कर सकते हैं। 

गौरतलब है कि भारत लगातार पाकिस्तान से कहता रहा है कि आतंकवाद और बातचीत साथ नहीं चल सकतीं। भारत लगातार पाकिस्तान को आतंकवाद पर लगाम लगाने की चेतावनी भी दे रहा है। खासकर ऐसे संगठनों को जिन्हें संयुक्त राष्ट्र की तरफ से आतंकी संगठन करार दिया गया है। 

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की ओर से दिए गए इस प्रस्ताव पर अभी भारत की ओर से कोई बयान नहीं जारी किया गया है। हालांकि, माना जा रहा है कि भारत ऐसी किसी भी मांग को मानने से पहले 2008 मुंबई आतंकी हमलों, पठानकोट, उड़ी और पुलवामा हमलों के दोषियों को सजा देने की मांग उठा सकता है। इन हमलों के बाद से ही भारत अब तक दो बार पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक कर चुका है।