पाकिस्तान में इमरान खान की सत्ता गिरने के बाद शहबाज शरीफ को पाक की सत्ता मिली है। शरीफ को सत्ता संभालते ही पाक देश पर 8 अरब डॉलर का कर्जा मिला है। पाक के हालातों से पूरी दुनिया वाकिफ है। पाक की कंगाली साफ साफ नजर आती है। इस आर्थिक संकट की वजह से ही इमरान खान की कुर्सी चली गई।


यह भी पढ़ें- केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी आज करेंगे मणिपुर का दौरा, इम्फाल को देंगे कई सौगात

नए प्रधानमंत्री सऊदी अरब से 8 बिलियन डॉलर का नया कर्ज लेने में कामयाब हो गए हैं। इन पैसों से पाकिस्तान को कंगाली से कुछ हद तक राहत मिल सकती है। इमरान खान के समय में सऊदी अरब और पाकिस्तान के रिश्ते काफी खराब हो गए थे। संबंध कितने खराब हो गए थे इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सऊदी अरब ने पाकिस्तान को पहले उधार दिए अपने 4.2 बिलियन डॉलर लौटाने को कहा था।

इसके कुछ दिन बाद से ही इमरान खान को सत्ता से बेदखल करने की मुहीम चली और विपक्ष इसमें कामयाब रहा। इमरान खान के बाद शहबाज शरीफ पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बने। अभी शहबाज सऊदी अरब के दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने सऊदी से मदद मांगी तो वह उधार देने को तैयार हो गया। उसने पाकिस्तान को 8 बिलियन डॉलर का नया कर्ज देने का ऐलान किया है।

इसमें उधार का तेल और पुराने कर्ज का भुगतान भी शामिल है। रिपोर्ट के मुताबिक उधार के इस पैकेज के तकनीकी मुद्दों पर अभी दोनों देशों के अधिकारियों के बीच फाइनल सहमति नहीं बन सकी है। ऐसे में अभी इसे लेकर डॉक्युमेंट्स बनाने में समय लग सकता है। हालांकि इस प्रोसेस को कंप्लीट करने के लिए पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ता इस्माइल अभी सऊदी अरब में ही हैं।