पूर्वोत्तर राज्य असम में असम राज्य आपदा प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा है कि रविवार को राज्य में बाढ़ की स्थिति में सुधार हुआ। हालांकि, राज्य के छह जिलों में करीब दो लाख लोग अब भी बाढ़ से प्रभावित हैं। इन छह जिलों में धीमाजी, लखीमपुर, होजई, कछार, करीमगंज और हायलाकांडी शामिल हैं।


राज्य में बाढ़ से अब तक 24 लोग मारे गए हैं। इनमें तीन की मौत भूस्खलन के कारण हुई। एएसडीएमए की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक, करीमगंज सबसे अधिक बाढ़ प्रभावित जिला है, जहां 1.25 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ की दंश झेलने को मजबूर हैं।


इसके बाद कछार जिले में 27,000 लोग प्रभावित हैं। इस बीच मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने रविवार को बाढ़ प्रभावित कछार जिले का दौरा किया और जिला प्रशासन से हालात का जायजा लिया।


उन्होंने रविवार सुबह सिलचर में एक स्कूल में बनाए गए बाढ़ राहत शिविर में रह रहे लोगों से बात की। इसके बाद मुख्यमंत्री ने शिवबारी में सिलचर-कलाइन रोड के लोगों से बातचीत की।


शिवबारी बराक नदी में आई बाढ़ के पानी से प्रभावित है। मुख्यमंत्री ने बाढ़ पीड़ितों को राज्य सरकार द्वारा हरसंभव समर्थन दिए जाने का आश्वासन दिया।