अब आपको अपने क्षेत्र के मौसत की सटीक जानकारी मिलेगी। जी हां, अब आपके क्षेत्र में कब बारिश होगी, सर्दी पड़ेगी या पाला, ओले पड़ने वाले हैं या फिर गर्मी पड़ेगी इस तरह तमाम मौसत की जानकारियां आप तक क्षेत्र के आधार पर मिला करेगी। इसके लिए मौसम विभाग ने तैयारी कर ली है। भारतीय मौसम विभाग अगले कुछ दिनों में प्रभाव आधारित पूर्वानुमान जारी करेगा जो आपके लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होगा।

प्रभाव आधारित पूर्वानुमान में देश की राष्ट्रीय मौसम एजेंसी न सिर्फ आपको बारिश, लू, तापमान, हवा की गति की जानकारी देंगे बल्कि इस परिवर्तन के क्या असर हो सकते हैं इसकी भी सूचना देंगे। इसका फायदा यह होगा कि स्थानीय प्रशासन के साथ आम नागरिक भी प्रतिकूल मौसम परिस्थितियों को देखकर अपने स्तर पर तैयारी कर सकेंगे।

मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंस के अनुसार भारी बारिश का असर देश के विभिन्न क्षेत्रों पर अलग-अलग तरह से पड़ सकता है। यह क्षेत्र, मौसम और जमीनी परिस्थितियों पर निर्भर करता है। इसलिए यह जरूरी है कि अब लोगों को प्रभाव आधारित मौसम की जानकारी दी जाए। किसी शहर विशेष, राज्य या क्षेत्र के लोगों पर मौसम का क्या असर होगा, यह जानकारी दी जानी चाहिए।

भारतीय मौसम विभाग के 145वें फाउंडेशन डे मौके पर बताया गया है कि इन दिनों देश के हर हिस्से में लोग सिर्फ यह बात नहीं कर रहे हैं कि मौसम कैसा रहेगा। यह भी चर्चा करते हैं कि मौसम का असर कैसा पड़ेगा। मौसम विभाग ने 2013 में उत्तराखंड आपदा के वक्त भारी बारिश का अनुमान लगाया गया था जो की ठीक निकला।

बता दें कि 2013 में उत्तराखंड में आई भारी बाढ़ और बारिश को लेकर तत्कालीन राज्य सरकार द्वारा पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था नहीं करने की काफी आलोचना हुई थी। उस वक्त राज्य सरकार ने कहा था कि इस तरह की भारी बारिश का पूर्वानुमान अक्सर ही आता है, ऐसे में सुरक्षा और राहत उपाय करना संभव नहीं है। 

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360