उत्तर भारत समेत कई राज्यों में भीषण गर्मी पड़ रही है। राजस्थान और विदर्भ में तो कई जगहों पर पारा इस महीने 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका है। इस बीच, भारत मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि गर्मी से जल्द राहत मिल सकती है। दिल्ली और आसपास के इलाकों में 16 मई के बाद बारिश की संभावना है। सीनियर आईएमडी साइंटिस्ट आरके जेनामनी ने कहा कि पश्चिमी राजस्थान और विदर्भ में लगभग 7-8 स्टेशनों पर तापमान 44 से 45 डिग्री सेल्सियस बना हुआ है। लू चल रही है और यह अगले 3-4 दिनों तक जारी रहेगी। इसके अलावा पश्चिमी मध्य प्रदेश में अगले 3 दिनों तक लू की स्थिति बन सकती है।

यह भी पढ़ें : बंगलादेश मुक्ति जोधाओं ने शिलॉन्ग में ईएसी मुख्यालय का किया दौरा, जानिए क्या है वजह

उन्होंने आगे कहा कि 13 से 14 मई तक दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में लू चलना शुरू हो सकती है। एक और एक्टिव पश्चिमी विक्षोभ 16 मई के आसपास आ रहा है और उसके बाद दिल्ली में बारिश की संभावना है। गौरतलब है कि रविवार से दिल्ली में एक बार फिर भीषण गर्मी का अनुमान जताया गया था, हालांकि चक्रवात असानी के प्रभाव से चल रही पुरवैया हवाओं ने राष्ट्रीय राजधानी को भीषण गर्मी से बचा लिया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, शुक्रवार से लू चलने की संभावना है जिससे लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें : मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने लाओस स्थित अगरवुड निवेशकों से की मुलाकात

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने कहा कि एक के बाद एक हल्की बारिश, गरज के साथ बारिश और तेज हवाओं ने पिछले हफ्ते भीषण गर्मी से कुछ राहत मिली थी। दिल्ली में मार्च महीने में मौसम गर्म और शुष्क था। मार्च में अनुमान के मुताबिक, सामान्य 15।9 मिलीमीटर बारिश होनी थी जो नहीं हुई। अप्रैल में 12।2 मिलीमीटर के मासिक औसत बारिश के मुकाबले 0।3 मिलीमीटर बारिश हुई। महीने के अंत में भीषण गर्मी ने दिल्ली के कई हिस्सों में पारा 46 डिग्री और 47 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ा दिया था।