देश भर में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है। यही कारण है कि मरीजों की जान बचाते डॉक्टर हर दिन अपनी जान गवां रहें हैं। इंडीयन मेडिकल एसोसिएशन की ताजा रिपोर्ट के अनुसार अब तक 719 डॉक्टरों की दूसरी लहर में कोरोना संक्रमण से मौत हुई है। वहीं दूसरी लहर में सबसे अधिक बिहार में 111 डॉक्टरों की जान गई है। आईएमए के मुताबिक इस तरह से कोरोना संक्रमण की दोनों लहरों में कुल 1467 डॉक्टरों की मृत्यु हुई है। यदि पिछले लहर की बात करें तो 748 डॉक्टरों की जान गई थी।

बिहार के बाद दिल्ली ऐसा राज्य है जिधर अधिक डॉक्टरों की मौतें दर्ज की गई हैं यदि आंकड़ो की बात करें तो दिल्ली में 109, उत्तरप्रदेश में 79, राजस्थान 43, झारखंड 39 और आंध्रप्रदेश में 35 डॉक्टरों की जान गई हैं। हालांकि कुछ ऐसे राज्य भी है जिधर डॉक्टरो की जान न के बराबर हुई है जिनमें पुडुचेरी 1, त्रिपुरा 2, उत्तराखंड 2, गोआ 2 वहीं हरयाणा ,जम्मू कश्मीर और पंजाब में 3 डॉक्टरों की दूसरी लहर में संक्रमण के कारण मृत्यु हुई है।

आईएमए द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, कोरोना की दूसरी लहर में अधिक्तर 30 वर्ष से 55 के डॉक्टरों की जान गई है, इनमें रेजिडेंट डॉक्टर, इंटर्नशिप करते डॉक्टर भी शामिल है। इसके अलावा कुछ गर्भवती महिला डॉकटरों की भी जान गई हैं। वहीं देशभर में कोरोना महामारी का ग्राफ अब लगातार गिर रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 84,332 नए कोरोना केस आए और 4002 संक्रमितों की जान चली गई है।