अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA को अपनी माइंड-कंट्रोल पावर्स से हैरान कर देने वाले इल्यूजनिस्ट यूरी गेलर ने अब एक नया दावा किया है। उनका कहना है कि धरती कम से कम 50 साल से एलियन्स के संपर्क में है। यूरी को 1974 में मैरीलैंड स्थित NASA के बेस पर बुलाया गया था। CIA अधिकारी उनकी पावर्स से काफी प्रभावित थे। यूरी का कहना है कि तभी उन्हें एलियन्स की मौजूदगी पर विश्वास हुआ।

यूरी गेलर को अपनी माइंड-कंट्रोल की ताकत के लिए जाना जाता रहा है। टेलिविजन पर बिना छुए चम्मच को मोड़ देने की उनकी परफॉर्मेंस के चलते उन्हें स्पून-बेंडर तक कहा जाता है। वह इल्यूजनिस्ट, जादूगर और टीवी पर्सनैलिटी भी हैं। वह खुद को साइकिक भी बताते हैं। वह कहते हैं कि इन ऐक्ट्स के लिए वह अपनी इच्छाशक्ति और मानसिक ताकत का इस्तेमाल करते हैं।

यूरी का कहना है कि इंजिनियर वर्नर वॉन ब्रॉन ने उन्हें एक सेफ में रखा मेटल का टुकड़ा दिखाया और बताया कि यह हमारे ग्रह का नहीं है। उन्होंने कहा कि यह एक UFO (अनआइडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट) का है जो धरती से टकराया। यूरी का कहना है कि उन्होंने वहां जो देखा उसने उनके होश उड़ा दिए लेकिन वह इसके बारे में ज्यादा डीटेल नहीं दे सकते क्योंकि उन्होंने इसके लिए एक दस्तावेज पर रजामंदी दी है।

कुछ वक्त पहले ही अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने UFOs पर गठित अपनी टास्क फोर्स की रिपोर्ट को देश की कांग्रेस के सामने रखा था। इसमें 2004 के बाद से धरती पर दिखे 144 यूएफओ या उड़न तश्तरियों के बारे में बताया गया है। यूं तो इस रिपोर्ट में इस बात का साफ-साफ दावा नहीं किया गया है कि इन उड़न तश्तरियों का संबंध दूसरे ग्रहों से आए एलियंस से है लेकिन ऐसी संभावना को पूरी तरह से खारिज भी नहीं किया है।

अमेरिका की खुफिया यूनिट
पेंटागन की UFO यूनिट के बारे में पहले दावा किया जा रहा था कि उसे भंग कर दिया गया है, लेकिन वह नेवी के सहयोग से खुफिया तरीके से चल रही थी। नेवी इंटिलिजेंस के तहत जारी इस प्रोग्राम को अनआइडेंटिफाइड एरियल फेनॉमेना टास्क फोर्स का नाम दिया गया था।