चिरांग जिला सदर काजलगांव स्थित चिरांग वन डिवीजन कार्यालय के समीपवर्ती गांवों में अवैध लकड़ी कारोबार के खिलाफ वन विभाग ने गहन तलाशी अभियान आरंभ कर दिया है। पिछले पांच दिनों से धारवाहिक रूप से चलाए गए उक्त तलाशी अभियान के दौरान वन विभाग ने भारी मात्रा में अवैध लकड़ियां बरामद करने में सफलता प्राप्त की है। बरामद लकड़ियों में साल, तीताचांप, गमारी, शीशम, लाली, आदि बरामद की गई, इन सभी लकड़ियों का बाजार मूल्य करीब एक करोड़ होने की जानकारी जिला वन अधिकारी ने दी है।


बरामद लकड़ियों को जिला वन अधिकारी के कार्यालय में रखा गया है। जिला वन कार्यालय में सिर्फ दो किलोमीटर दूर स्थित बिलासपुर और पद्मपुर गांव से उक्त लकड़ियां जब्त की गई हैं। वन विभाग के कुछ अधिकारी और पुलिस के साथ काजलगांव महकमा के दो सौ से अधिक अवैध व्यवसायियों की मीलीभगत से लंबे समय से अवैध व्यापार चलते रहने का भी आरोप है।

दिन के उजाले में सौ-सौ साइकिलें तथा रात के अंधेरे में ट्रकों में जिले के दुर्गम इलाके से मूल्यवान लकड़ियां तस्करी के रूप में विभिन्न जिले तथा अन्य राज्यों में भेजी जाती हैं। विभिन्न प्राकृतिप्रेमी संगठन, छात्र संस्थाएं तथा मीडिया के दबाव के कारण भी उक्त अवैध लकड़ियों के कारोबार के खिलाफ अभियान चलाने के लिए वन विभाग मजबूर हो गया है।