इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने त्रिपुरा के लगभग 12 हजार शिक्षकों को प्राथमिक शिक्षा के लिए प्रशिक्षित करने के लिए त्रिपुरा की सरकार के साथ समझौता किया है। 

इस समझौते के तहत विश्वविद्यालय के प्राथमिक शिक्षा कार्यक्रम में दो साल का डिप्लोमा के जरिए ऐसे शिक्षकों को प्रशिक्षण मिलेगा जो कि राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद मापदंडों के तहत योग्यता रखते हैं और सरकारी या इसके मान्यता प्राप्त प्राथमिक-एलिमेंटरी स्कूलों में काम करते हों ये यह पाठ्यक्रम दो वर्ष का होगा जिसे एक और वर्ष के लिए विस्तार दिया जा सकता है।

इसमें कहा गया है कि इग्नू और त्रिपुरा राज्य में प्राथमिक शिक्षा पर विषयवस्तु केंद्रित ब्लॉक विकसित करेगा. ब्लॉक का लक्ष्य सभी नामांकित शिक्षकों को प्राथमिक शिक्षा के आयामों से अवगत कराना है.

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में आरटीआइ कैंपेन की भी शुरूआत की गई है। छात्र संघ के आह्वान पर छात्रों ने इसकी शुरुआत की। छात्र प्रशासन के समक्ष वहां हुई नियुक्तियों, दाखिलों और अन्य मामलों से जुड़ी जानकारी सूचना के अधिकार के तहत मांग रहे हैं जिसके बाद यह कैंपेन शुरू किया गया।