एक अप्रैल से ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इंडिया, सिंडीकेट बैंक, आंध्रा बैंक, कार्पोरेशन बैंक और इलाहाबाद बैंक के आईएफएससी कोड बदल गए हैं। इन बैंको के अकाउंट होल्डर को अब नए आईएफसी कोड का इस्तेमाल करना होगा। 

इन बैंकों के खाताधारक अपनी बैंक ब्रांच के पुराने आईएफएससी और एसआईसीआर कोड का प्रयोग नहीं कर पाएंगे। अगस्त 2019 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 पब्लिक बैंकों के विलय का निर्णय किया था।

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का विलय पंजाब नेशनल बैंक में हुआ। सिंडीकेट बैंक का विलय केनरा बैंक में, आंध्रा बैंक और कार्पोरेशन बैंक का विलय यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में हुआ है।