जब आप किसी के प्यार में पड़ते हैं, तो आपको उस व्यक्ति को बेहतर तरह से समझने की भी जरूरत होती है। एक रिश्ते के लिए सिर्फ प्यार ही काफी नहीं होता, बल्कि समझदारी का परिचय भी आपको देना पड़ता है। शादी के बाद पत्नियों का नेचर अक्सर ही पति से अलग ही देखने को मिलता है, ऐसे में कपल्स को एक-दूसरे को जानना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है।

कई बार दोनों पार्टनर्स में से एक बहुत ज्यादा सेंसिटिव होता है, तो जाने अनजाने आप उनका दिल दुखा बैठते हैं। यही कारण है कि ज्यादातर कपल्स के बीच बहुत प्यार होने के बाद भी वह अपने साथी के साथ सामंजस्य बिठा पाने में असफल रह जाते हैं। 

महिलाएं बहुत ज्यादा इमोशनल होती हैं, जरा-जरा सी बात पर उन्हें रोना आ जाता है। ऐसी वाइफ से आपको बहुत सोच-समझकर कुछ भी बोलना पड़ता है। आपका थोड़ा भी रूखा बिहेवियर उन्हें कष्ट पहुंचा सकता है। अगर किसी बात को लेकर साथी थोड़ा इमोशनल हो भी जाए तो आप उनसे बहुत प्यार से बात करें, आपका गुस्सा जाना या उनसे सख्त लहजे में बात करना उन्हें और अपसेट कर सकता है। एक सेंसिटिव पार्टनर की भावनाएं कई चीजों के साथ जुड़ी होती हैं, ऐसे में उन्हें क्या बुरा लग सकता है इस बारे में आपको ही जानना पड़ता है।

जो महिलाएं बेहद सेंसिटिव होती हैं, वे बहुत सोच-समझकर कोई कदम नहीं उठा पाती हैं। ऐसे में अक्सर आप उनके फैसलों पर सवाल उठाने लगते हैं, जो उन्हें बहुत तकलीफ पहुंचा सकता है। ऐसी स्थिति में पत्नी को आपका प्रैक्टिकल नेचर भी बुरा लगने लगता है। उन्हें महसूस होता है कि आप भावनात्मक तौर पर उनसे जुड़ नहीं पाए हैं। हालांकि रिश्तों में प्रैक्टिकल होना से ज्यादा भावनाएं मायने रखती हैं। प्यार में कई बार यह इमोशनल अटैचमेंट ही काम आता है, तो आपको अपनी वाइफ के भावुक नेचर को लेकर उन्हें ज्यादा टोकना नहीं चाहिए। हां, आप उन्हें कुछ जगहों पर प्रैक्टिकैलिटी का महत्व जरूर समझा सकते हैं। 

जब आपकी पत्नी को हर एक बात पर रोना आ जाता है, वह परेशान और मायूस दिखने लगती हैं तो आप यह मानने लगते हैं कि वह ऐसा सिर्फ आपका अटेंशन पाने के लिए कर रही हैं। हालांकि आपको यह समझना होता है कि कई बार साथी का नेचर ही भावनात्कम होता है। वह किसी भी चीज को लेकर अगर तकलीफ में दिखाई देती हैं, तो यह समझने की कोशिश करें कि आपका अटेंशन पाने के लिए नहीं बल्कि आपकी साथी सच में बेहद परेशान है। उनके लिए आपका उन्हें न समझ पाना बहुत दुख पहुंचा सकता है।

ऐसी महिलाएं जो बहुत ही इमोशनल होती हैं, वह कितनी बार भी धोखा खा जाएं लेकिन भावनाओँ में आकर ही फैसला लेने को मजबूर रहती हैं। ऐसे में कई बार उन्हें धोखे का सामना भी करना पड़ जाता है या ये कह सकते हैं कि लोग इमोशनली उनसे काम कराना जानते हैं। ऐसी स्थिति में आपको अपनी साथी को थोड़े टिप्स देने चाहिए ताकि वह वर्क प्लेस या किसी भी जगह बहकावे में आकर फैसला न लें और बाद में खुद को ठगा हुआ महसूस करें। इतना इमोशनल होना आपकी वाइफ को सिर्फ तकलीफ ही पहुंचाएगा, इसलिए बेहतर यही है कि आप उन्हें सही राह दिखाएं।