बैंक से लोन लेने या क्रेडिट कार्ड लेने में क्रेडिट स्कोर की अहम भूमिका होती है। दरअसल, क्रेडिट स्कोर कर्ज अदा करने की किसी व्यक्ति की साख को नापने का महत्व पूर्ण पैमाना है। अगर क्रेडिट स्कोर (सिबिल स्कोर) अच्छा है तो बैंक आसानी से लोन या क्रेडिट कार्ड जारी कर देते हैं। यहीं नहीं लोन पर ब्याज की दर भी कम कर देते हैं। अच्छा क्रेडिट स्कोर आपके लिए कई तरह से फायदेमंद होते हैं। हम आपको अच्छे क्रेडिट स्कोर के फायदे बाता रहे हैं।

अच्छा क्रेडिट स्कोर न केवल आपको बैंक से आसानी से लोन दिलाता है बल्कि आपको कम ब्याज पर भी लोन मिलता है। क्रेडिट स्कोर में किसी व्यक्ति के कर्ज और उसे चुकाने का संपूर्ण ब्योरा होता है। इसीलिए अगर ये अच्छा होता है तो बैंक आसानी से लोन दे देते हैं। वहीं, इसके खराब होने पर बैंक या एनबीएफसी से लोन मिलना मुश्किल होता है। साथ ही बैंक अधिक ब्याज भी वसूलते हैं।

अच्छा क्रेडिट स्कोर होने पर पता चलता है कि लोन लेने वाला व्यक्ति कर्ज चुकाने में पाबंद है। इसीलिए जब अच्छे क्रेडिट स्कोर वाला व्यक्ति बैंक या एनबीएफसी के पास लोन लेने जाता है तो आसानी से लोन मिल जाता। इतना ही नहीं बैंक ज्यादा लोन भी देने में आनकानी नहीं करता है। आमतौर पर जिस व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर 750 या इससे अधिक होता है उसे बैंक आसानी से लोन दे देते हैं।

अच्छा क्रेडिट स्कोर होने पर बैंक आसानी से क्रेडिट कार्ड जारी कर देते हैं। इतना ही नहीं बैंक अच्छे क्रेडिट स्कोर वाले व्यक्ति को दिए हुए क्रेडिट कार्ड की लिमिट भी समय-समय पर बढ़ाते रहते हैं। इसके अलावा आपके पास कई फाइनेंस कंपनियों और बैंकों के क्रेडिट कार्ड के कई विकल्प उपलब्ध होंगे जिनमें से आप अपनी जरूरत के हिसाब से अपने लिए क्रेडिट कार्ड चुन सकते हैं। आपको कैश बैक और ऑफर्स आदि जैसे कई फायदे भी मिलेंगे।

अच्छे क्रेडिट स्कोर होने का एक औैर यह फायदा है कि बैंक और वित्तीय कंपनियां आपको प्री-अप्रूव्ड लोन का भी ऑफर देती है। इससे आपको पहले से पता होता है कि अगर आपको गाड़ी या कोई दूसरा सामान खरीदना है तो बैंक से कितना लोन मिल सकता है। इसका फायदा यह होता है कि आपको लोन रद्द होने की चिंता नहीं होती है।

अगर आप किसी एक बैंक से दूसरे बैंक में अपना लोन ट्रांसफर करना चाहते हैं तो दूसरा बैंक आपका लोन अपने बैंक से ट्रांसफर करने से पहले आपके क्रेडिट स्कोर को जरूर देखते हैं। अगर आपका क्रेडिट स्कोर सही नहीं है तो हो सकता है की वो आपके लोन ट्रांसफर की एप्लीकेशन को रिजेक्ट कर दे।