31 मार्च न सिर्फ वित्तीय वर्ष का आखिरी दिन होता है बल्कि यह कई वित्तीय कामों की भी डेडलाइन होती है। यदि इन वित्तीय कामों को समय पर पूरा नहीं किया जाता है तो अगले वित्त वर्ष में समस्या हो सकती है। आज हम आपको ऐसे ही पांच कामों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनको 31 मार्च 2022 से पहले किया जाना जरूरी है।

यह भी पढ़े : अमेरिकी सांसद लिंडसे ग्राहम का बड़ा बयान , कहा - राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की हत्या कर देनी चाहिए


1- विलंबित या संशोधित आईटीआर

यदि आपने अभी तक मूल्यांकन वर्ष 2021-22 के लिए आयकर रिटर्न (आईटीआर) नहीं दाखिल नहीं किया है तो यह काम 31 मार्च तक किया जा सकता है। साथ ही इस तारीख तक संशोधित आईटीआर भी दाखिल किया जा सकता है।

2- आधार-पैन लिंक

आधार और पैन नंबर को लिंक करने की अंतिम तारीख 31 मार्च 2022 है। यदि आपने अभी तक ऐसा नहीं किया है तो 31 मार्च से पहले आधार और पेन को लिंक करा सकते हैं। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो पैन नंबर अवैध हो जाएगा।

3- बैंक खाता केवाईसी अपडेट

पहले बैंक खाता केवाईसी अपडेट कराने की अंतिम तारीख 31 मार्च 2021 थी। कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट को देखते हुए आरबीआई के केवाईसी अपडेट करने की अंतिम तारीख को बढ़ाकर 31 मार्च 2022 कर दिया था।

यह भी पढ़े : Indian student shot : आज सुबह कीव में एक और भारतीय छात्र को गोली लगी, अब तक दो भारतीय छात्रों की मौत हो चुकी है


4- अग्रिम कर किस्त

आयकर अधिनियम की धारा 208 के तहत 10 हजार रुपये से ज्यादा की आयकर देनदारी वाले करदाता को अग्रिम कर दे सकते हैं। इसका चार किस्तों में भुगतान किया जा सकता है। अंतिम किस्त का भुगतान 15 मार्च से पहले किया जाना जरूरी है।

5- टैक्स  बचत निवेश

आयकर से बचने के लिए करदाता को बचत में निवेश करना जरूरी है। यह निवेश मूल्यांक वर्ष के खत्म होने से पहले किया जाना चाहिए। ऐसे में यदि आप भी कर बचत वाली योजना में निवेश करना चाहते हैं तो 31 मार्च से पहले ऐसा कर लें।