दिवाली के अवसर पर लोंगेवाला पोस्ट में भारतीय सेना के सैनिकों को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पड़ोसी देशों को ललकारा लगाई है। साथ ही मोदी ने दुश्मन देशों को  एक कठोर संदेश दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया की कोई भी ताकत हमारे बहादुर सैनिकों को देश की सीमा की रक्षा करने से नहीं रोक सकती है। अगर कोई भी अपनी क्षमताओं को आंकने की कोशिश करता है तो वे इसका मुंहतोड़ जवाब दे सकते हैं।


मोदी ने कहा कि दुनिया का इतिहास हमें बताता है कि केवल वे ही राष्ट्र सुरक्षित रह गए हैं, केवल वे ही देश आगे बढ़े हैं, जिनके पास आक्रमणकारियों से लड़ने की क्षमता थी। साथ ही उन्होंने कहा कि कोई फर्क नहीं पड़ता कि अंतरराष्ट्रीय सहयोग कितना दूर हो गया है, समीकरण बदल गए हैं, लेकिन हम यह कभी नहीं भूल सकते कि सतर्कता सुरक्षा का तरीका है, जागरूकता खुशी का समर्थन है। मोदी ने यह स्पष्ट किया कि भारत की वर्तमान रणनीति समझ और समझाने की नीति में विश्वास करती है।


मोदी ने कहा कि दुनिया इस तथ्य को वर्तमान परिदृश्य में अच्छी तरह से जान रही थी कि भारत किसी भी कीमत पर अपने हितों से समझौता नहीं करेगा। भारत की यह स्थिति, यह कद आपकी (भारतीय सेना) शक्ति और आपकी ताकत के कारण है। आपने देश को सुरक्षित कर लिया है, इसीलिए भारत आज वैश्विक मंचों पर सख्ती से बात करता है। यही डर दुश्मनों को लगता है।