ताज महल बहुत ही खूबसूरत महल है यह पुरे देश ओर दुनिया  में सबसे ज्यादा सुंदर महल माना जाता है। ताजमहल सिर्फ़ प्यार की निशानी ही नहीं हैं, बल्कि इसका नाम दुनिया के सात अजूबों में भी शुमार किया जाता है।  इस खूबसूरत और प्यार की कहानी बयां करने वाली इमारत को किसने किस लिए बनवाया हम सब जानते हैं पर इसके बावजूद बहुत सी ऐसी बातें भी है जिन्हें हम नहीं जानते है।


  सच्चे प्यार की पहचान करे तो ताजमहल को दीदार पकड़ सकते  है। यह एक ऐसी इमारत है , जिससे  देखकर  आज  भी लोग प्यार पर भरोसा कर लेते है आगरा का ताजमहल भारत की शान और प्रेम का चिन्ह माना जाता है। इसका  निर्माण मुग़ल सम्राट शाहजहां ने अपनी मुमताज की याद  में करवाया  था। इस सफ़ेद संगमरमर इमारत  को देखने की चाह,  दुनिया  के हर एक इंसान  की होती है इस लिए इसे मोहब्बत  का मंदिर भी कहा  जाता है।


दुनिया की कम  ही ऐसी इमारत  होगी जो ताजमहल की तरह मकबूल होगी। ताज महल एक महान शासक का अपनी प्रिय रानी के प्रति प्रेम का अद्भुत प्रतीक है ताजमहल पूर्णिमा की रात को सबसे ज्यादा मनमोहक और सुंदर  दिखाई  देता है। 

गुंबदनुमा इस इमारत को जब आप सिर उठाकर ऊपर देखते हैं तो इसकी नक्काशीदार छतें और दीवारें किसी आश्चर्य से कम नहीं लगतीं। इसका यह इतिहास तो बच्चे-बड़े सभी की जुबान पर है कि मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी दूसरी पत्नी मुमताज महल की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया था।

यमुना नदी के किनारे सफेद पत्थरों से निर्मित अलौकिक सुंदरता की तस्वीर 'ताजमहल' न केवल भारत में, बल्कि पूरे विश्व में अपनी पहचान बना चुका है। प्यार की इस निशानी को देखने के लिए दूर देशों से हजारों सैलानी यहां आते हैं। दूधिया चांदनी में नहा रहे ताजमहल की खूबसूरती को निहारने के बाद आप कितनी भी उपमाएं दें।


वह सारी फीकी लगती हैंमुमताज महल और शाहजहां की कब्र ताजमहल के निचले हिस्से में आमने-सामने बनी हुई है। आज भी आगरा शहर देशी-विदेशी सैलानियों के आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। खूबसूरत स्थापत्य कला में निर्मित होने की वजह यहां  गर्मी हो या ठंड, हर मौसम में पर्यटकों की भीड़ देखी जा सकती है। पर्यटन विभाग की ओर से प्रतिवर्ष 'ताज महोत्सव' का आयोजन किया जाता है।