मुंहासों की समस्या से आजकल हर दूसरा व्यक्ति परेशान है. खास तौर पर नौजवान लोगों में ये समस्या होती है. उम्र के एक पड़ाव को पार करने के बाद उनके चेहरे और त्वचा पर मुंहासे निकल आते हैं जिन्हें दूर करने के लिए कई तरह की चीजें लोग करते हैं जिसके बाद भी वो हटते नहीं.

 अगर किसी केस में वो हट भी जाते हैं तो उसके काले धब्बे आपका पीछा नहीं छोड़ते और ये ब्लैक स्पॉट्स त्वचा की रंगत को भी बिगाड़ देते हैं जिसकी वजह से आपको काफी समस्या का सामना करना पड़ता है.

मुंहासे के निशान अजीब निशान होते हैं जो पिंपल या जिट के खुलने के बाद पीछे रह जाते हैं. मुंहासे प्रोन त्वचा वाले लोग इन निशानों से निपटने के वास्तविक संघर्षों को जानते हैं कि इन अजीब निशानों को साफ करने में कितना समय लग सकता है. इन समस्याओं से निपटने के लिए घरेलू उपचार हकीकत में अच्छी तरह से काम करते हैं और यहां दो घरेलू उपचार हैं जिन्हें आप अपने घर पर आसानी से आजमा सकते हैं.

शहद और दालचीनी

शहद बैक्टीरिया और सूजन को कम करता है जबकि दालचीनी मुंहासे वाली त्वचा पर बहुत काम करती है और मुंहासों के प्रभाव को और कम करती है.

कैसे करें :

1. एक कटोरी में आधा चम्मच दालचीनी लें और उसमें बराबर मात्रा में शहद मिलाएं.

2. इसे अच्छी तरह से हिलाएं और इसे अपने मुंहासों के निशान पर रात भर के उपचार के रूप में इस्तेमाल करें.

3. विजिबल रिजल्ट्स देखने के लिए इसे अपनी त्वचा पर कम से कम 30 दिनों तक रोजाना इस्तेमाल करें.

एलोवेरा + टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल एक बेहतरीन एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी जरूरी तेल है जो बैक्टीरिया को दूर रखने में मदद करता है. जब एलोवेरा के साथ इसे मिलाया जाता है, तो ये निशान से निपटने में मदद करता है और उनका अच्छी तरह से इलाज करता है.

कैसे करें :

1. एक कटोरी में एक बड़ा चम्मच एलोवेरा जेल लें और उसमें दो बूंद टी ट्री ऑयल की मिलाएं. टी ट्री ऑयल आमतौर पर बहुत केंद्रित रूप में होता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि आप इसे सीधे अपनी त्वचा पर न लगाएं.

2. इस मिक्सचर को अपने पूरे चेहरे पर रात के उपचार के रूप में प्रयोग करें और सुबह इसे धो लें.

3. टी ट्री ऑयल के प्रति आपकी त्वचा की प्रतिक्रिया के आधार पर, आप इसे एक महीने के लिए हर रोज या ऑप्शनल दिनों में इस्तेमाल कर सकते हैं.