केंद्र सरकार ने ट्रेनों की विलंब चलने के कारण यात्रियों को सुविधा देने की बात कही है। इसके लिए अब यात्रियों को खाना-पानी देकर खुश किया जाएगा। नई योजना के अनुसार रेल की ओर से यात्री को खाना व पानी मुफ्त में मिलेगा। इसके लिए आपको हमारी पूरी जानकारी पढ़नी होगी। सबसे पहले तो यह जान लेना जरूरी होगा कि इस सेवा का लाभ कैसे लेना है। क्योंकि सरकारी सेवा का लाभ लेने के लिए पूरी प्रक्रिया को समझना जरूरी है।


इस संदर्भ में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि समय की पाबंदी के लिए किसी भी प्रकार से सुरक्षा से समझौता नहीं किया जाएगा। मेगा ट्रैफिक ब्लॉक कर छुट्टी वाले दिन ही सिग्नल व्यवस्था, ट्रैक सुधार, विद्युतिकरण समेत अन्य काम किया जाए। जहां बॉटल नेक की समस्या है वहां एलिवेटेड ट्रैक, बाइपास रेल ट्रैक व तीसरी-चौथी लाइन बनाकर ट्रेनों को वास्तविक समय पर चलाया जाएगा।


ट्रेन अगर देरी से संचालित होती है तो रेलवे मुफ्त में खाना व पानी देगा। दरअसल रेलवे ने कहा है कि दो-तीन घंटे देर होते हैं तो यात्री को आईआरसीटीसी को अपनी तरफ से यात्रियों के लिए लंच और पीने के पानी की व्यवस्था करनी होगी। हालांकि अनारक्षित श्रेणी वाले यात्रियों को खाना देने पर अभी रेल मंत्रालय विचार करेगा।


फिलहाल तो जो जानकारी मिली है उसके आधार कहा जा सकता है। ट्रेन दो घंटा लेट हुई तो खाना पानी मुफ्त दिया जाएगा। यह केवल रिजर्वेशन में सुविधा मिलेगी। जनरल टिकट वालों को सुविधा नहीं मिलेगी। यदि आपकी ट्रेन लेट है तो रेल कर्मचारी से बोलकर इसका लाभ लें। यदि लाभ नहीं मिलता है तो इसकी शिकायत रेलवे में कर लें। साथ ही यह कफंर्म कर लें कि इस सेवा को आपके रूट में लागू किया गया है या नहीं। वैसे इस सेवा का लाभ आपको आईआरसीटीसी देगा।