ज्यादातर लोगों को मीठी चीज़ें पसंद होती हैं। चाय, कॉफी, मिठाई, चॉकलेट, आइसक्रीम किसी न किसी रूप में चीनी का सेवन करते रहते हैं ये जानते हुए भी कि शुगर सेहत के लिए कितना अनहेल्दी होता है फिर भी। एक्सपर्ट की मानें तो महिलाओं को दिनभर में 6 टीस्पून, वहीं पुरुषों को 9 टीस्पून चीनी तक खाने की सलाह दी जाती है। तो ऐसे में बार-बार होने वाली शुगर क्रेविंग को कैसे शांत किया जाए, ये जानना जरूरी है।

एकदम स चीनी को छोड़ने के बजाय अपनी डाइट रूटीन में चीनी के ऑप्शंस को चुनें। अगर आप दिन भर की चाय-कॉफी में 3 टीस्पून चीनी का सेवन करते हैं, तो धीरे-धीरे इसे 1 टीस्पून तक लाएं।

उन खाद्य पदार्थों के प्री-शुगर्ड ब्रैड्स को स्विच करें, जिनमें एडेड शुगर लिखा हो। उसमें आपको चीनी को मिलाने की जरूरत नहीं होती। इस तरह आपका चीनी का उपभोग करने पर अधिक नियंत्रण होगा और इससे यह स्पष्ट होगा कि आप चीनी का कितना सेवन कर रहे हैं। दुकानों से लिए गए मीठे खाद्य पदार्थों के सेवन से पूरी तरह बचें।

प्रोटीन का सेवन उन लोगों के द्वारा बताई गई एक और ट्रिक है, जो चीनी की आदत को छोड़ने के लिए कारगर है। प्रोटीन आपको लंबे समय तक तृप्त (लंबे समय तक भूख ना लगाना) करने के लिए जाना जाता है, जिससे आपको अचानक भूख लगने की संभावना कम हो जाती है जो आसानी से मिठाई, कैंडी या चॉकलेट द्वारा पूरी की जाती है।

शुगर खाने की क्रेविंग हो रही है तो चीकू, अंगूर, आम, केला जैसे फ्रूट्स को डाइट का हिस्सा बनाएं। किशमिश, छुआरे भी इसमें शामिल किए जा सकते हैं। जो मीठे भी होते हैं और कहीं से अनहेल्दी भी नहीं।