ढेकियाजुली। असम जातीयतावादी युवा छात्र परिषद (अजायुछाप) की ढेकियाजुली आंचलिक समिति के तत्वावधान तथा निखिल राभा छात्र संघ, निखिल बोडो छात्र संघ, आदिवासी छात्र संघ, मूसा, आटसा, आम्सू , वरिष्ट नागरिक संघ, बंगाली युवा  छात्र फेडरेशन, ढेकियाजुली प्रेस क्लब के अलावा शहर की कई अन्य  शाखासमितियों के साथ ही स्थानीय लोगों ने हाल  ही में शहर के बीचों- बीच सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक धरना प्रदर्शन का स्थानीय  राजस्व चक्राधिकारी के मार्फत मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा है।

ज्ञापन में कहा गया है कि वर्ष 2016 में विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने ढेकियाजुली को  सरकारी तौर पर महकमा घोषित करते हूए कार्यालय की स्थापना का ढेकियाजुली राजस्व चक्राधिकारो को प्रभारी महकमाथिपति का दायित्व सौंपा था।  

लेकिन चुनाव से पूर्व जो यंहा महकमा बनाया गया एवं चुनाव के बाद महकमा कार्यालय बनाया गया वह तो बंद हो ही गया और कार्यालय का जो साइन बोर्ड लगा था वह भी किसी ने हटा दिया । अजायुछाप ने ढेकियाजुली को महकमा का दर्जा नहीं मिलने पर विशाल गणतांत्रिकआन्दोलन की चेतावनी दी है।