पाकिस्तान के खैबरपख्तूनख्वाह में पिछले दिनों आईईडी बम विस्फोट में 9 चीनी नागरिकों के मारे जाने के बाद अब कराची में 2 चीनी नागरिकों को मारा गया है। बुधवार को कराची में बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने दो चीनी नागरिकों को गोली मार दी। दोनों को कराची के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह हमला ऐसे समय पर हुआ है जब चीन ने उसके नागरिकों को सुरक्षा देने में नाकाम रहने की वजह से इमरान खान की सरकार को फटकार लगाई है और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को बीजिंग तलब किया गया था।
घटना को लेकर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने एक बार फिर पाकिस्तान सरकार को नसीहत दी कि चीनी नागरिकों और उनकी संपत्तियों की सुरक्षा की जाए। उन्होंने कहा, ''हमें पाकिस्तान में चीनी नागरिकों और उनकी संपत्तियों की सुरक्षा को लेकर पाकिस्तानी पर पूरा विश्वास है।'' यह घटना दासू बांध के कर्मचारियों की बस में विस्फोट के दो सप्ताह बाद हुई है। 14 जुलाई को विस्फोट में कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई थी, जिसमें 9 चीनी नागरिक थे।

इस साल अप्रैल में दक्षिणी-पश्चिमी पाकिस्तान के क्वेटा में एक होटल में विस्फोट हुआ था, जहां चीनी राजदूत मौजूद थे। इस घटना में चार लोगों की मौत हुई थी। चीन ने पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर निवेश किया है और बड़ी संख्या में उसके कर्मचारी और अधिकारी पाकिस्तान में तैनात हैं। चीन ने कई बार पाकिस्तान से कहा है कि उसे उसके नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी होगी।