भारतीय टेलीविजन का इतिहास बहुत ही पुराना है और साथ ही बहुत भी उन्नत रहा है। टीवी देखना हर किसी को पसंद होता है। टीवी सीरियल की बात करें तो हर कोई देखता है।
वैसे जैसे पहले धारावाहिकों के देखने वाले उतने जोशीला था वो अब नहीं हैं क्योंकि स्मार्टफैन की दुनिया बन गई है। दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले पांच भारतीय टीवी धारावाहिक ऐसे हैं, जो उस जमाने में बहुत ही शानदार माने जाते हैं। अभ वो एक आइकॉनिक के रूप में माने जाते हैं।

महाभारत की बात करें तो 80 के और 90 के दशक में जैसे 'रामायण', 'श्रीकृष्ण' और अन्य कई पौराणिक धारावाहिक जबरदस्त हिट रहे। भारत में महाभारत आज तक सबसे अधिक उत्साह के साथ देखा जाने वाला टीवी सीरियल है। इस टीवी सीरियल ने भारतीय कलाकार समाज को फिरोज खान, गजेन्द्र सिंह चौहान, मुकेश खन्ना, रोनित रॉय, पुनीत इस्सर, पंकज धीर, सुरंद्र पाल, नितीश भारद्वाज, चेतन हंसराज, गुफी पेंटल, उमाशंकर, आर्यन वैद्य, किरण करमरकर, हर्षद चोपड़ा जैसे नये प्रतिभाशाली चेहरे दिए, जो टीवी सिनेमा में मशहूर हैं।

रामायण भी महाभारत सीरियल की तरह ही था। रामानंद सागर की प्रस्तुति रामायण देश का पहला टीवी धारावाहिक था, जिसने आमजन की टीवी में आस्था जगा दी। रामायण के कुछ-कुछ एपिसोड इतने मार्मिक हैं कि लोग देखने के घंटे-घंटे भर बाद तक आंसू बहाते रहे। भारत रामायण का प्रभाव इतना गहरा था कि इस टीवी सीरियल के पोस्टर को लोग अपने घरों में लगाकर पूजा करने लगे थे।

शक्तिमान 90 के दशक दौर का ऐसा शो था जिसने खासकर बच्चों को दीवाना बनाया था। अभिनेता मुकेश खन्ना के जीवंत अभिनय ने इस किरदार को अमर कर दिया है। महाभारत में भीष्म का किरदार करते हुए मुकेश खन्ना को उतनी लोकप्रियता नहीं मिली, जितनी शक्तिमान ने दिलाई। शक्तिमान को भारत का पहला सुपरहीरो भी कहा जाता था।