गत आईसीसी टी-20 विश्व कप विजेता (ICC T20 WC 2021) वेस्ट इंडीज और पिछले कुछ समय में एशिया की मजबूत टीम बन कर उभरी बंगलादेश (west indies vs bangladesh live update) के सामने यहां जारी टी-20 विश्व कप 2021 में जीवित रहने के लिए कल के मैच में करो या मरो की स्थिति होगी। दोनों टीमों का टूनामेंट के सुपर 12 चरण में अब तक काफी खराब प्रदर्शन रहा है। दोनों ने अपने शुरुआती दोनों मैच हारे हैं। 

वेस्ट इंडीज (west indies) को जहां इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका, वहीं बांग्लादेश (bangladesh) को श्रीलंका और इंग्लैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। शारजाह क्रिकेट स्टेडियम  (Sharjah Cricket Stadium) पर दोपहर साढ़े तीन बजे खेला जाने वाला ग्रुप एक का यह मैच इसलिए भी दोनों टीमों के लिए इतना महत्वपूर्ण होगा। इसमें बहुत कुछ दांव पर होगा। इससे पहले दोनों टीमें टी-20 विश्व कप (ICC T20 WC 2021) में दो बार भिड़ी हैं और दोनों ने जीत साझा की है। 2007 में टी-20 विश्व कप के पहले संस्करण में जहां बांग्लादेश ने वेस्ट इंडीज को छह विकेट से हराया था तो वहीं 2014 संस्करण में वेस्ट इंडीज ने 73 रनों से जीत दर्ज की थी। 

ओवरऑल दोनों टीमों के बीच 12 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले गए हैं और इसमें भी दोनों का दबदबा समान रहा है। वेस्ट इंडीज ने छह और बंगलादेश ((west indies vs bangladesh) ने पांच मैच जीते हैं, जबकि एक मुकाबला बेनतीजा रहा है। दोनों टीमें जीत के लिए काफी चीजों पर काम कर रही हैं। वेस्ट इंडीज की टीम कई स्टार टी-20 खिलाड़यिों की मौजूदगी के बावजूद दो हार को लेकर चिंतित है। खासतौर पर उसके बल्लेबाजी चिंता का विषय है जो पूरी तरह विफल रही है। इसमें कोई दोराय नहीं है कि वेस्ट इंडीज को टीम में बदलाव करना होगा और सही संतुलन खोजना होगा। वहीं किसी एक को जिम्मेदारी निभानी होगी और अधिक से अधिक रन बनाने होंगे। 

वहीं बंगलादेश को भी लगातार दो हार के बाद टीम वर्क दिखाना होगा और विजयी पक्ष बनना होगा। उन्हें वेस्ट इंडीज के खिलाफ हर विभाग (west indies vs bangladesh) में अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा, जिसके लिए उसका बुनियादी चीजों पर टिके रहना महत्वपूर्ण होगा। विंडीज टीम के खराब फॉर्म के मद्देनजर बंगलादेश को चीजों को अपने पक्ष में करने के इस बड़े मौके को भुनाना होगा और यह सब कुछ उसके अनुभवी खिलाड़ियों वाले लाइन-अप पर निर्भर करेगा। शारजाह की पिच की बात करें तो यहां स्पिनरों और तेज गेंदबाजों दोनों को मदद मिल सकती है। विशेषज्ञों के मुताबिक यहां 150 या 160 के आसपास का स्कोर चुनौतीपूर्ण होगा। यहां अब तक सुपर 12 चरण के तीन मैच खेले गए हैं, जिसमें दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने वाली टीमों ने दो बार जीत हासिल की है।