विजय हजारे ट्रॉफी के पहले सेमीफाइनल में बुधवार को मुंबई का सामना हैदराबाद से होगा। दोनों टीमें यहां के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में भिड़ेंगी।


पिछले मैच में मुंबई को रोहित शर्मा की सेवाएं मिली थी और उम्मीद की जा रही है कि सेमीफाइनल में मुंबई को अजिंक्य रहाणे और युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ का साथ मिलेगा।


दोनों खिलाड़ी क्वार्टर फाइनल के दौरान भारतीय टीम के साथ वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रहे थे। इन दोनों के आने से मुंबई मजबूत होगी। ऐसे में कप्तानी श्रेयस अय्यर से वापस रहाणे पर आ सकती है जिन्होंने टूर्नामेंट के अधिकतर मैचों में टीम की कमान संभाली है और बल्ले से भी अच्छा योगदान दिया है।


वहीं रोहित जैसा बल्लेबाज होने से मुंबई की टीम काफी मजबूत नजर आ रही हैे। मुंबई की ताकत उसकी बल्लेबाजी ही है। रहाणे और रोहित के अलावा उसके पास अय्यर और शॉ के रूप में तो बेहतरीन युवा बल्लेबाज हैं। शॉ ने हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ बल्ले से अपनी प्रतिभा का लोह मनवाया है। वह टूर्नामेंट के शुरुआती दौर में मुंबई के लिए अच्छे खासे रन कर चुके हैं।


इन सभी के अलावा टीम के दो सीनियर खिलाड़ी सूर्यकुमार यादव और आदित्य तारे भी बड़ा स्कोर करने का दम रखते हैं। गेंदबाजी में मुंबई की आस धवल कुलकर्णी से है।


मुंबई के लिए हैदराबाद को हल्के में लेना बड़ी गलती साबित हो सकती है। बेशक उसके पास बल्लेबाजी में उतने बड़े नाम नहीं हैं जितने मुंबई के पास है, लेकिन उसके बल्लेबाजों में घरेलू टूर्नामेंट्स में हमेशा अच्छा किया है।

इस टूर्नामेंट में बवांका संदीप का बल्ला अच्छा चल रहा है वहीं रोहित रायडू भी फॉर्म में हैं। यह दोनों मुंबई के गेंदबाजों के लिए सिरदर्द साबित हो सकते हैं। वहीं सलामी बल्लेबाज तन्मय अग्रवाल भी फॉर्म में हैं। गेंदबाजी में टीम मोहम्मद सिराज पर निर्भर करेगी। इस युवा गेंदबाज में इतना दम है कि वह मुंबई के शीर्ष बल्लेबाजों को परेशान कर सकता है।