तेलंगाना के सनसनीखेज बलात्कार मामले के मुख्य संदिग्ध पी राजू ने वारंगल जिले के नश्कल गांव के पास चलती ट्रेन के सामने कूदकर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने आरोपी राजू का शव रेल पटरी से बरामद किया। उसकी पहचान उसके हाथ पर बने टैटू से की गयी है। आरोप है कि राजू ने नौ सितंबर को शहर के पास सिंगरेनी कॉलोनी में एक छह वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म किया और बाद में उसकी हत्या कर दी। इससे पहले पुलिस ने संदिग्ध को पकड़ने के लिए व्यापक तलाश अभियान चलाया तथा उसका पता बताने वाले को 10 लाख रुपये ईनाम देने की भी घोषणा की। 

वहीं अब #Saidabad #telanganapolice और #SaidabadIncident ट्विटर पर ट्रेंड हो रहे हैं। इस घटना को लेकर लोगों की तेजी से प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं। वैभव कौशिक नाम के शख्स ने ट्वीट किया, दो घटनाएं दिशा एनकाउंटर और राजू सुसाइड। उम्मीद है कि इन दो घटनाओं से बदलाव आएगा और भविष्य में इस तरह के अपराधों पर रोक लगेगी। संकेत मुंडे नाम के यूजर ने ट्वीट में लिखा, 'जब कोर्ट रेपिस्ट को फांसी पर नहीं लटका पाती है तो पुलिस को यह काम करना चाहिए। सही वक्त पर न्याय होने से न्याय मिलता है।' साहिल सिंह नाम के यूजर ने लिखा, 'निंजा टेक्निक ऑफ एनकाउंटर।'


वहीं गुरुवार को तेलंगाना के दो मंत्रियों ने बच्ची के माता-पिता से मुलाकात की और 20 लाख रुपये का चेक दिया। गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली और महिला एवं बाल कल्याण मंत्री सत्यवती राठौर ने गुरुवार सुबह सैदाबाद क्षेत्र के सिंगरेनी कॉलोनी में पीडि़त परिवार से मुलाकात की। मंत्रियों के दौरे के कुछ घंटे बाद पुलिस को आरोपी पल्कोंडा राजू (30) का शव जंगांव जिले के घनपुर स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर मिला। मंत्रियों ने परिवार को ढांढस बंधाया और उन्हें दो-बेड रूम का घर आवंटित करने का भी वादा किया। उन्होंने पीडि़ता के माता-पिता को आश्वासन दिया कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए हर संभव कदम उठाए जाएंगे।