अफगानिस्तान के काबुल में पासपोर्ट कार्यालय (passport office) के बाहर सैकड़ों अफगान अलग-अलग मुद्दों का हवाला देते हुए अफगानिस्तान छोड़ने के लिए सैकड़ों कतार बना कर खड़े हो गए हैं। तालिबान (Taliban), जो अब अफगानिस्तान पर शासन करता है, ने घोषणा की है कि वह यात्रा दस्तावेज जारी करना फिर से शुरू करेगा। घोषणा के बाद, रात से सैकड़ों लोग पासपोर्ट कार्यालय के बाहर कतार में लग गए।
कुछ लोग इलाज के लिए देश छोड़ने के लिए बेताब हैं, तो कुछ इस्लामवादियों (Islamists) के नए शासन से बचने के लिए देश छोड़ रहे हैं। इस बीच, तालिबान सुरक्षा कर्मियों को लगातार बढ़ती भीड़ को संभालने में कठिनायों का सामना करना पड़ रहा है। तालिबान (Taliban) के एक सुरक्षाकर्मी ने कहा कि "हम नहीं चाहते कि कोई आत्मघाती हमला या विस्फोट हो।"

उन्होंने कहा कि “यहां हमारी जिम्मेदारी लोगों की रक्षा करना है। लेकिन लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं। ”विशेष रूप से, आईएस के स्थानीय समूह, जो तालिबान का मुख्य दुश्मन होता है, ने अगस्त के अंत में 150 से अधिक लोगों को मार डाला था, जब नागरिकों ने काबुल हवाई अड्डे पर सामूहिक रूप से छोड़ने के लिए बेताब प्रयास किया था। नई व्यवस्था के शुरुआती दिन।