हिमाचल प्रदेश के ऊना जिला के एक 106 वर्षीय मतदाता ने मृत्यु शय्या पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया और पोस्टल बैलेट के जरिए वोट डालने के दो घंटे बाद सलहना गांव के बीरू राम की मौत हो गई। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि बीरू राम ने विधानसभा चुनाव के लिए बनाए गए मोबाइल बूथ के माध्यम से वोट डाला और शाम साढ़े चार बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। 

ये भी पढ़ेंः अब फांसी के फंदे पर झूलेगा लालकिल में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग करने वाला आतंकी, सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला


बीरू राम के तीन पुत्र, एक पुत्री, तीन पोते, दो पोतियां, दो परपोतियां और पांच परपोते हैं। शुक्रवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। हिमाचल में गुरुवार को पोस्टल बैलेट के जरिए 7,800 लोगों ने वोट डाला, जिससे बैलेट वोटों की संख्या 12,893 हो गई। वहीं फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र के जगनोली पंचायत की एक अन्य मतदाता बंटो देवी (106 वर्षीय ) ने घर से मतपत्र के जरिए मतदान किया। 

ये भी पढ़ेंः ट्विटर में आज से शुरू होगी कर्मचारियों की छंटनी, मेल के जरिए दी जाएगी जानकारी


चुनाव विभाग की टीम ने उनके घर जाकर गुप्त मतदान की प्रक्रिया पूरी की। श्रीमती बंटो देवी ने लोकतंत्र के उत्सव में भाग लेने में सक्षम होने पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने सभी मतदाताओं से12 नवंबर को मतदान करने की भी अपील की।