अब प्राइवेट ट्रस्ट से EPFO में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं। जी हां, क्योंकि नौकरी करने वाले हर शख्स के लिए प्रोविडेंट फंड का पैसा काफी अहमियत रखता है। ऐसे में जब भी कोई व्यक्ति एक कंपनी से नौकरी छोड़कर दूसरी कंपनी में जाता है तो अपने पीएफ का पैसा नई कंपनी के पीएफ खाते में ट्रांसफर कर लेता है। हालांकि, कई बार जब कोई शख्स एक प्राइवेट ट्रस्ट से ईपीएफओ में पैसे ट्रांसफर करता है तो उसे कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। पहली चुनौती तो यही होती है कि आखिर पैसा ट्रांसफर कैसे करना है।
आपको बता दें कि कुछ कंपनियां पीएफ का योगदान सरकार के ईपीएफओ में ना कर के अपने खुद के ट्रस्ट में करती हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि इससे कर्मचारियों को अधिक फायदा होता है। ऐसे पीएफ खातों को ईपीएफओ से छूट वाला यानी प्राइवेट ट्रस्ट कहा जाता है।
अगर आपकी पुरानी कंपनी में प्राइवेट ट्रस्ट था, जबकि नई कंपनी में ईपीएफओ में पीएफ का पैसा जमा होता है, तो उसे ट्रांसफर करने के लिए आपको फॉर्म-13 भरना होगा। इसमें पुराने एंप्लॉयर की जानकारियां भरनी होंगी, जो भी मांग गई हों। साथ ही मौजूदा एंप्लॉयर की भी जानकारियां फॉर्म में डालनी होंगी। इस फॉर्म को पुराने एंप्लॉयर के अटेस्ट करवाना होगा।
जरूरी है ये जानकारियां—
- पुराने और नए एंप्लॉयर की जानकारी।
- पुरानी कंपनी में आपका पीएफ अकाउंट नंबर।
- दोनों एंप्लॉयर के पते समेत तमाम जानकारियां।
- बैंक खाते की जानकारियां।