पश्चिम बंगाल में चुनाव र‍िजल्‍ट आने के बाद हुई ह‍िंसा को लेकर च‍िंताजनक तस्‍वीरें सामने आ रही हैं। कोलकाता हाईकोर्ट के आदेश के बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की टीम बंगाल के दौरे पर आई है। मंगलवार को हिंसा की जांच के लिए जादवपुर गई एनएचआरसी की टीम पर कुछ लोगों ने हमला कर द‍िया। 

एनएचआरसी के एक अधिकारी का कहना है क‍ि जांच के दौरान पता चला है कि यहां 40 से ज्यादा घर तबाह हो गए हैं। हम पर गुंडों का हमला हो रहा है। उधर, NHRC के सदस्य आतिफ रशीद के साथ भी बदसलूकी की गई। आतिफ रशीद ने पूरी घटना को लेकर स‍िलस‍िलेवार ट्वीट भी क‍िए हैं। इसमें कुछ बीजेपी कार्यकर्ताओं के टूटे घरों को द‍िखाया गया है।

दरअसल राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की ओर से गठित एक समिति ने फैसला किया था कि वह पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव बाद हिंसा के दौरान हुए कथित मानवाधिकार उल्लंघनों को लेकर हितधारकों से मंगलवार को भी बातचीत करेगी। इसी क्रम में मंगलवार को चुनाव के बाद हुई हिंसा की जांच के लिए जादवपुर गई राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की टीम पर हमला किया गया।

एनएचआरसी के सदस्‍य आतिफ रशीद ने ट्वीट करके बताया, 'इस वीडियो को देखिये कैसे वेस्ट बंगाल के जादवपुर में दंगाई CISF के जवानों के साथ भी मारपीट कर रहे हैं। मुझ तक पहुंचने के लिए CISF के जवानों की मौजूदगी में इनकी इतनी हिम्मत है तो आम आदमी जिसका क़ुसूर सिर्फ इतना था की उसने अपनी मर्ज़ी से वोट किया तो उसका क्या हाल कर रखा होगा!'