पाकिस्तान के बाद अब बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर मुस्लिमों की भीड़ने हमला कर तोड़फोड़ की और 100 से ज्यादा घरों को लूट लिया। बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यक हैं। ऑल इंडिया रेडियो ने इसकी जानकारी ट्विटर पर दी है।

खबर है कि शनिवार 7 अगस्त को बांग्लादेश में कुछ कट्टरपंथियों ने अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के कई घरों, दुकानों पर हमला किया और चार मंदिरों में तोड़फोड़ की। घटना बांग्लादेश के खुलना जिले के रूपशा उपजिला के शियाली गांव की है। बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने अपने ट्विटर हैंडल पर कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकियों द्वारा मंदिर में तोड़फोड़ की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। वहीं, मंदिरों पर हमला करने के आरोप में छह लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है।

मारपीट में 30 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, जिनका इलाज सदर हॉस्पिटल में चल रहा है। बांग्लादेश के कई न्यूज वेबसाइट्स ने भी घटना के बारे में जानकारी दी है। ढाका ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, मामले में अभी तक 10 लोगों की गिरफ्तारी की गई है और पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित कर लिया है।

पूजा परिषद के नेताओं के मुताबिक शुक्रवार रात करीब नौ बजे महिला श्रद्धालुओं के एक समूह ने पूर्व पारा मंदिर से शियाली श्मशान घाट तक जुलूस निकाला था। उन्होंने रास्ते में एक मस्जिद पार की थी, इस दौरान इमाम (इस्लामी मौलवी) ने जुलूस का विरोध किया। भक्तों और मौलवी के बीच तीखी नोक-झोंक हुई। दो समूहों के बीच छिड़े विवाद ने धीरे-धीरे दंगे का रूप ले लिया।